Loading...
Breaking News

लेख

शिव एक विशिष्ट देव

डा. राधेश्याम द्विवेदी शिव हिन्दू धर्म के प्रमुख देवताओं में से हैं। वे त्रिदेवों में एक देव हैं। इन्हें देवों के देव भी कहते हैं। इन्हें महादेव, भोलेनाथ, शंकर, महेश, रुद्र, नीलकंठ के नाम से भी जाना जाता है। तंत्र साधना में इन्हे ‘भैरव’ के नाम से भी जाना जाता है।  वेद में इनका नाम ‘रुद्र’ है। यह ...

Read More »

भारत में स्वयंभू बाबाओं की मनमानी

डा.राधेश्याम द्विवेदी कौन संत होता है:- अपने लिए कोई भी सांसारिक इच्छा न रखने वाले तथा परोपकार में अपना जीवन बिताने वाले को ही संत कहते हैं। सांसारिक हित करने की इच्छा समाप्त होकर जब परहित की इच्छा प्रबल हो जाती है, तब व्यक्ति ही ‘संत’ कहलाने का अधिकारी बनता ...

Read More »

कानून का लचीलापन

डा. राधेश्याम द्विवेदी विधि या कानून किसी भी नियम संहिता को कह सकते हैं। विधि प्रायः भलीभांति लिखी हुई संसूचकों (इन्स्ट्रक्शन्स) के रूप में होती है। समाज को सम्यक ढंग से चलाने के लिये विधि अत्यन्त आवश्यक है।विधि मनुष्य का आचरण के वे सामान्य नियम होते है जो राज्य द्वारा स्वीकृत तथा ...

Read More »

“सर्द रेगिस्तान का बदलता स्वरूप- सोनम वांगचुक और आइस स्तूप”

(1 सितम्बर: सोनम वांगचुक के जन्मदिवस पर विशेष)                                                                 ( मधु शर्मा कटिहा) हम सब जानते हैं कि भारत एक कृषिप्रधान देश है। यहाँ अधिकतर किसान सिंचाई के लिए वर्षा पर निर्भर रहते हैं। ऐसे में उस स्थान का क्या जहाँ वर्षा न के बराबर होती हो? जम्मू-कश्मीर राज्य का ऐसा ...

Read More »

तीन साल की खट्टी-मीठी उपलब्धियाँ

डॉ. भरत झुनझुनवाला मोदी सरकार ने बीते 3 सालों में अभूतपूर्व साहस का परिचय दिया है| जीएसटी लागू करने का रास्ता बनाया है| रीयल एस्टेट में धांधली रोकने रेरा कानून लागू किया है| हाइवे के निर्माण मे तीव्र गति बनाई है| बिजली की उपलब्धता बढ़ी है| रेल व्यवस्था की गुणवत्ता ...

Read More »

आरामकुर्सी पर पसरा जलप्रपात

ललित सुरजन धर्मशाला में विमान उतरा| जैसे ही बाहर निकले एक सुखद ताजगी ने छू लिया| हवा में एक खनक थी और थी हल्की सी शीतलता| शहरी जीवन में नित दिन धूल और धुएं से भरी हवा पीने वाली देह के लिए यह एक स्फूर्ति भरा अहसास था| लगभग दस ...

Read More »

शेल कम्पनियों के विरूद्ध सरकार का कड़ा रुख

डॉ. हनुमंत यादव वित्तमंत्री अरुण जेटली का दावा है कि नोटबंदी की वजह से चालू साल में आयकर रिटर्न भरने वालों की संख्या में 25 प्रतिशत की वृद्धि होने से उनकी कुल संख्या बढ़कर 2. 83 लाख हो गई है| मेरा ऐसा मानना है कि आय कर रिटर्न भरने वालों ...

Read More »

सिर्फ आंकड़ों का जमा जोड़ नहीं है प्रबंधन

योगेश मिश्र बड़े संस्थानों से तालीम पाए लोगों के लिए भी यह खरा साबित हो सकता है| अभी भी जिन संस्थानों में ये प्रबंधन गुरु दूसरे तीसरे पायदान पर हैं, कंपनियों के लीड रोल में उसके संस्थापक प्रवर्तक हैं उनमें कर्मचारी से लेकर विक्रेता तक, कच्चा माल आपूर्ति करने वाले ...

Read More »

कूटनीतिक कामयाबी

अमेरिका ने हिज्बुल मुजाहिदीन को अंतरराष्ट्रीय आतंकी संगठनों की सूची में डाल दिया है| निश्चय ही यह भारत के लिए एक बड़ी कूटनीतिक कामयाबी है| दूसरी ओर, यह पाकिस्तान के लिए एक बड़ा झटका है| अमेरिका के ताजा फैसले को जहां आतंकवाद के संदर्भ में पाकिस्तान को अंतरराष्ट्रीय मंचों पर ...

Read More »

मुसीबत की बाढ

इस साल फिर देश के कई राज्य भीषण बाढ़ की चपेट में हैं और उन इलाकों में रहने वाले लाखों लोग जिंदा रहने की चुनौती से दो-चार हैं| बिहार, पश्चिम बंगाल, असम और उत्तर प्रदेश सहित आठ राज्यों में बाढ़ का कहर जितना कुदरती है उससे ज्यादा यह सरकारों के ...

Read More »