Thursday , January 24 2019
Loading...

लेख

आसान नहीं आरक्षण की राह

प्रो फैजान मुस्तफा पिछले दिनों आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों को 10 प्रति-रु39यात आरक्षण प्रदान करने हेतु संसद के दोनों सदनों में पारित 124वें संविधान सं-रु39याोधन विधेयक के द्वारा संविधान के अनुच्छेद 16 में एक नया उपबंध जोड़ा गया है, जो राज्यों को ऐसे प्रावधान करने में समर्थ बनाता है. ...

Read More »

बच्चों द्वारा बुजुर्ग माता-पिता की उपेक्षा समाज के लिए शुभ नहीं

डा. राधेश्याम द्विवेदी आधुनिक युग में जितनी तेजी से भौतिक और वैज्ञानिक जीवन में विकास हुआ है ,उतनी ही तेजी से व्यक्ति का नैतिक और सांस्कारिक पतन भी हुआ है। दूसरों ,गुरुओं ,बड़ों ,बुजुर्गों की तो बात ही क्या अब तो माता -पिता तक के प्रति समर्पित ,सम्मान करने वाले ...

Read More »

क-रु39यमीर की राजनीति

कुमार प्र-रु39याांत गांधीवादी विचारक फिर वही हुआ जो नहीं होना चाहिए थाय या फिर उसी तरह हुआ जिस तरह नहीं होना चाहिए थाय या फिर राज्यपाल ने क-रु39यमीर के मर्म पर उस तरह वार किया है, जिस तरह कोई बहादुर वार नहीं करता है. यह कायरता है. क-रु39यमीर के साथ ...

Read More »

दोराहे पर क-रु39यमीर में लोकतंत्र

अ-रु39याोक कुमार पांडेय घाटी में -रु39याहरी निकाय चुनावों में बेहद कम मतदान के बाद पंचायतों से संतो-ुनवजयाजनक वोटिंग की खबरें अभी आ ही रही थीं कि राज्यपाल द्वारा विधानसभा भंग करने की खबर ने उन्हें धुंधला कर दिया. राज्यपाल -रु39याासन की अवधि खत्म होने के महीनेभर से भी कम समय ...

Read More »

राम का कौन स्वरूप किसके लाभ वाला

-रु39याीतला सिंह उत्तर प्रदे-रु39या के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का यह कहना कि जो -रु39यराम का नहीं, वह हमारे काम का नहीं-रु39य, याद दिलाता है कि कई और लोग भी जाके हिय न राम वैदेही, तजिये ताहि कोटि वैरी सम जद्यपि परम सनेही जैसी पंक्तियों को ही राम के प्रति पूर्ण ...

Read More »

कहानी दो फैसलों की, आसिया बीबी और सबरीमाला

राम पुनियानी 31 अक्टूबर, 2018 को पाकिस्तान के सर्वोच्च न्यायालय ने आसिया बीबी को ई-रु39यानिंदा के आरोप से बरी कर दिया। वे पिछले आठ सालों से मौत की सजा का इंतजार कर रहीं थीं। अदालत ने उन पर लगे आरोपों को सही नहीं पाया। पाकिस्तान में ई-रु39यानिंदा के लिए मौत ...

Read More »

विपक्षी एकता के नाविक नायडू

नवीन जोशी वरिष्ठ पत्रकार हमारे देश में राजनीतिक दलों का पलटी मारना कोई नयी बात नहीं है. मुलायम सिंह यादव से लेकर नीतीश कुमार तक और ममता बनर्जी से लेकर जयललिता तक कई बार आश्चर्यजनक रूप से पैंतरे बदलते रहे हैं.बिल्कुल हाल में चंद्रबाबू नायडू का कांग्रेस से तालमेल करना ...

Read More »

बैंकों की सहायता

सरकारी बैंकों की मदद के साथ सुनि-िरु39यचत करना जरूरी है कि वे सही तरह चलें! उनके फंसे कर्ज एक सीमा से अधिक न होने पाएं। बैंकों के पुनर्पूंजीकरण की योजना के तहत उन्हें 20 हजार करोड़ रुपए और देने की तैयारी यही याद दिलाती है कि सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों ...

Read More »

नेताजी बोस, नेहरू और उपनिवे-रु39या विरोधी संघ-ुनवजर्या

राम पुनियानी यदि आधुनिक भारत एक धर्मनिरपेक्ष और लोकतांत्रिक रा-ुनवजयट्र है तो उसमें दे-रु39या में चले उपनिवे-रु39या विरोधी संघ-ुनवजर्या का प्रमुख योगदान है। विभिन्न राजनैतिक विचारधाराओं वाले लोग इस संघ-ुनवजर्या में -रु39याामिल हुए और सभी ने अपने-ंउचयअपने तरीके से भारत को अंग्रेजों से मुक्त कराने के इस अभियान में योगदान ...

Read More »

न्यायपालिका की मंशा पर सवाल

डा. राधेश्याम द्विवेदी सुप्रीम कोर्ट की मंशा पर अब सवाल खड़े होने शुरू हो रहे हैं। अयोध्या के राम मंदिर बाबरी मामले में पहला फैसला 1949 में आया था। अभी तक इस मामले में कुल 2 ही फैसले आए हैं। बाबरी मस्जिद-राम जन्मभूमि का पहला विवाद 1822 में फैजाबाद कोर्ट ...

Read More »