धर्म कर्म

मंत्रों का जाप करते समय रखें ये सावधानियां…

हिन्दू धर्म के पूजा-पाठ व किसी भी कर्मकांड में मंत्रों के जाप का विशेष महत्व होता है. मंत्र के बिना कोई भी पूजा पूरी नहीं होती है. मंत्रों  के जाप करने की विशेष संरचना होती है सिद्ध मंत्रों के जाप से मुक्ति व मोक्ष की प्राप्ति होती है. मंत्र दो प्रकार के होते है एक मंत्र वह ...

Read More »

कार्तिक पूर्णिमा पर ऐसे करें गंगा स्नान व पूजन…

हिंदू धर्म में कार्तिक के महीने का खासा महत्‍व होता है. कार्तिक पूर्ण‍िमा इस वर्ष 4 नवंबर को है.जानिए कैसे करें गंगा स्नान व पूजन. कार्तिक पूर्णिमा को त्रिपुरारी पूर्णिमा भी कहते हैं. इसी दिन ईश्वर भोलेनाथ ने त्रिपुरासुर नामक राक्षस का अंत किया था. राक्षस के अंत के बाद महादेव की पूजा त्रिपुरारी के रूप में होने लगी. ...

Read More »

कैलाश-मानसरोवर में विज्ञानियों ने खोज निकाले ‘शिव-पार्वती’

भारतीय वनस्पति सर्वेक्षण (बीएसआई) ने कैलाश-मानसरोवर एरिया में वनस्पतियों की खोज करते-करते ‘शिव-पार्वती’ की ही खोज कर डाली. दरअसल बीएसआई ने पश्चिमी हिमालय में 5500 मीटर ऊंचाई पर पाए जाने वाले नए वंश के तीन वनस्पति समूहों को ईश्वर शिव व माता पार्वती को समर्पित करते हुए विज्ञानियों ने इनका नामकरण शिव-पार्वती के नाम पर किया ...

Read More »

जानिए कौन थी तुलसी व क्यों किया जाता है शालिग्राम से उनका शादी

आज देशभर में देवउठनी एकादशी मनाई जाएगी. इस दिन से शुभ काम प्रारंभ होंगे. तो चलिए जानते हैं कि इस दिन तुलसी से शालिग्राम का शादी क्यों किया जाता है व वे कौन थीं. देवउठनी एकादशी को प्रबोधनी एकादशी भी बोला जाता है. ये कार्तिक माह के शुक्ल पक्ष के ग्यारहवें दिन आती है. इस एकादशी को देवउठनी एकादशी के नाम से ...

Read More »

चार माह बाद आज से प्रारम्भ होंगे मांगलिक काम…

31 अक्‍टूबर को देवउठनी एकादशी है व इस दिन चार माह के शयन के बाद देवता जागेंगे. इसके साथ ही मांगलिक काम भी प्रारम्भ हो जाएंगे. देवउठनी एकादशी के दिन इन 5 कामों को करना शुभ होता है. इस ‌दिन ईश्वर विष्‍णु 4 माह के शयन के बाद जागते हैं, उनसे मांगलिक काम शुरु करने की प्रार्थना जरूर करें. देवउठनी एकादशी पर घर व मंदिर ...

Read More »

देव प्रबोधिनी एकादशी की महत्ता

हिन्दू धर्म में व्रत-पूजा का बहुत महत्व है। साल भर पूजा पाठ के दौर चलते रहते हैं। इनमे एकादशी भी है। साल में 24 एकादशी मनाई जाती है। विभिन्न नामों से पहचानी वाली एकादशी में जहां देव शयनी एकादशी को ईश्वर विष्णु व अन्य देवता चार माह के लिए क्षीर सागर में सोने चले जाते हैं।इसलिए इन चार माहों में ...

Read More »

देवउठनी पर गन्ने की पूजा का महत्व

कार्तिक माह में शुक्ल पक्ष की ग्यारस कोदेवउठनी ग्यारस या देव प्रबोधनी ग्यारस नाम से जाना जाता है। मान्यता है कि इस दिन चार ईश्वर विष्णुअपनी चार मास की योगनिंद्रा से जागरूकहोते है। इन चार महीनों में कोई भी शुभ काम नहीं होता हैं। इसलिए हिंदू परंपरा के अनुसार इस दिन से सभी शुभ कार्य, शादी, मुंडन, नामकरण ...

Read More »

देवउठनी एकादशी व्रत कथा

देवउठनी ग्यारस जिसे देव दिवाली भी बोला जाता है। इसे पाप मुक्त करने वाली एकादशी भी माना जाता है। वैसे तो सभी एकादशी पापो से मुक्त करने के लिए ही की जाती है लेकिन इस एकादशी का सबसे ज्यादा महत्त्व होता है। इस दिन से चार महीने पूर्व शयनी एकादशी के दिन ईश्वर विष्णु एवं अन्य सभी देवता श्रीरसागर ...

Read More »

आज महिलाऐं देंगी अस्ताचल सूर्य को अध्र्य…

नईदिल्ली. उत्तर हिंदुस्तान के साथ देशभर के विभिन्न क्षेत्रों में मनाए जाने वाले छठ महापर्व के दूसरे दिन आज खरना मनाया जाएगा. खरना के तहत श्रद्धालु महिलाऐं व्रत रखकर विभिन्न व्यंजन बनाऐंगी. इन व्यंजनों में गुड़ की खीर भी बनाई जाएगी. सरोवरों, नदियों के घाटों, तीर्थों आदि के आसपास श्रद्धालुओं का जमावड़ा लगेगा. श्रद्धालु महिलाऐं पानी में ...

Read More »

ऐसे करें छठी मैया को खुश…

छठ पूजा हिन्दू धर्म में श्रद्धा, आस्था व पवित्रता का महापर्व है। बिहार व पूर्वांचल में छठ पूजा बहुत उत्साह, आस्था व परंपरा के साथ मनाया जाता है। छठ व्रत दिवाली के छठे दिन मनाया जाता है। यह पर्व वर्ष में दो बार मनाया जाता है। पहली बार चैत्र में व दूसरी बार कार्तिक मास में। कैसे कि जाती है पूजा छठ पूजा चार दिवसीय उत्सव ...

Read More »