Loading...
Breaking News

Padmaavat के निर्माता पहुंचे सुप्रीम न्यायालय की शरण

नई दिल्‍ली: पहले गुजरात, मध्‍यप्रदेश  राजस्‍थान  द्वारा संजय लीला भंसाली की फिल्‍म ‘पद्मावत’ पर बैन लगाए जाने के बाद अब फिल्‍म के प्रोड्यूसरों के सुप्रीम न्यायालय की याद आ गई है न्‍यूज एजेंसी एएनआई के अनुसार ‘पद्मावत’ के निर्माताओं ने अब कुछ राज्‍यों में इस फिल्‍म की रिलीज पर लगाए गए बैन के विरोध में सुप्रीम न्यायालय का रुख किया है बता दें कि सेंसर बोर्ड द्वारा पास किए जाने के बाद हाल ही में इस फिल्‍म की तय की गई है यह फिल्‍म हिंदी के साथ ही तमिल  तेलगु भाषा में भी रिलीज की जाएगी ‘पद्मावत’ आईमैक्‍स थ्रीडी में रिलीज होने वाली हिंदुस्तान की पहली फिल्‍म होगी

करणी सेना की मांग, फिल्‍म पर लगे राष्‍ट्रव्‍यापी बैन
वहीं दूसरी तरफ इस फिल्‍म को लेकर राजस्‍थान में करणी सेना का विरोध अब भी जारी है करणी सेना के कार्यकर्ताओं ने इस फिल्‍म को पूरे राष्ट्र में बैन किए जाने पर विरोध प्रदर्शन किया कल्‍वी ने अपने बयान में कहा, ‘मैं बार बार राष्ट्र के पीएम  मुख्‍यमंत्रियों से अनुरोध करता हूं कि हमारी भावनाओं को समझ जाएं ‘

यह भी पढ़ें:   जल्द ही सीरियल '21 सरफरोश में नज़र आने वाले हैं मोहित रैना
Loading...
loading...

चार बड़े राज्‍यों ने लगाया प्रतिबंध
आरंभ से ही विवादों से घिरी भंसाली की यह फिल्‍म ‘पद्मावत’ सेंसर बोर्ड से पास होने के बाद भी बहुत ज्यादामुश्किलों से गुजर रही है ‘पद्मावत’ 25 जनवरी को रिलीज होगी के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री अनिल विज ने अपने बयान में कहा, ‘मीटिंग में मैंने बोला कानून व्‍यवस्‍था को ध्‍यान में रखते हुए हमें इस फिल्‍म को राज्‍य में बैन कर देना चाहिए मंत्रिमंडल ने मेरा समर्थन किया  हमने इसे हरियाणा में बैन करने का निर्णय लिया ‘ बता दें कि हरियाणा से पहले गुजरात  राजस्‍थान जैसे राज्‍य भी इस फिल्‍म की रिलीज पर रोक लगा दी है वहीं मध्‍य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी अपने राज्‍य में इस फिल्‍म को रिलीज न होने देने के इशारा दे चुके हैं

Click Here
पढ़े और खबरें
Visit on Our Website
यह भी पढ़ें:   इस फिल्म के सपोर्ट के लिए काम्या पंजाबी हुई टॉपलेस...
Loading...
loading...