Tuesday , April 24 2018
Loading...

इच्छामृत्यु के लिए पीएम को लिखा ख़त

“भारत एक कृषि मुख्य राष्ट्र है” बचपन से आज तक वैसे तो ये लाइन कई बार पढ़ चुके है, स्कूल में टीचर्स भी यही पढ़ाते है लेकिन उसी कृषि मुख्य राष्ट्र की जमीन का मालिक, किसान आये दिन खुदखुशी कर रहा है प्रातः कालका अख़बार खोलने में एक समाचार तो किसान आत्महत्या की मिल ही जाती है

मामला मध्यप्रदेश के नीमच का है जहाँ मनासा विकासखंड के अल्हेड़ गांव में रहने वाले 34 वर्षीय किसान विनोद पाटीदार बेहोशी की हालत में परिजन को खेत में मिला था, परिजन उसे पास के सामुदायिक सेहत केंद्र लेकर गए जहाँ से डॉक्टरों ने उन्हें जिला अस्पताल रैफर कर दिया हालत गम्भीर होने के कारण उन्हें अहमदाबाद लेजाते समय रास्ते में उनकी मौत हो गई

यह भी पढ़ें:   स्कूलों में गीता पर आधारित गायन प्रतियोगिताएं कराई जाएं
Loading...
loading...

अंतिम संस्कार के पहले परिजन ने विनोद का फ़ोन देखा तो उसमें एक वीडियो नज़र आया वीडियो देखने पर पता चला, ये आत्महत्या से पहले का है, जिसमें विनोद पांच साहूकारों के नाम लेते हुए कर्ज की बात कह रहे हैविनोद के द्वारा बनाये गए वीडियो के अनुसार साहूकारों ने उसके साथ धोखा किया रकम लौटाने के बावजूद उन्होंने मुझे प्रताड़ित किया, तथा रकम की मांग की रकम न देने के कारण उन साहूकारों ने मेरी जमीन  ट्रेक्टर हड़प लिए

बताया जा रहा है गत 4 जनवरी को विनोद ने एक ख़त पीएमओ दिल्ली को भी लिखा था, जिसमें उन्होंने इच्छामृत्यु की इजाज़त मांगी किसानो की आत्महत्या के मामले आये दिन आते रहते है, लेकिन प्रशासन, ऑफिसर इस पर कुछ भी बयान देने से बच रहे है वहीं प्रदेश की गवर्नमेंट भी कोई सुध नहीं ले रही है

Click Here
पढ़े और खबरें
Visit on Our Website
यह भी पढ़ें:   एमपी में शिक्षकों की निगरानी प्रारम्भ
Loading...
loading...