इंडियन महिला हॉकी टीम का यो-यो टेस्ट में कोई सानी नहीं

स्पोर्ट्स ऑथोरिटी ऑफ इंडिया के बेंगलुरु स्थित सेंटर में भारतीय विमेंस हॉकी टीम के खिलाड़ियों की इम्तिहान प्रारम्भ हो गई है. टीम के चीफ कोच हरेंद्र सिंह ने शुक्रवार को खिलाड़ियों की फिटनेस लेवल को जांचने के लिए यो-यो टेस्ट का पहला चरण प्रारम्भ किया.

कोच का कहना है कि इस सीजन कॉमनवेल्थ गेम्स, एशियन गेम्स  वर्ल्ड कप जैसे तीन बड़े टूर्नामेंट होने हैं. इसलिए नेशनल हॉकी टीम के खिलाड़ी ज्यादा तेज  फिट होने के लिए ट्रैक पर जमकर पसीना बहा रहे हैं. खिलाड़ियों की मेहनत यहां होने वाले यो-यो टेस्ट में साफ दिखाई दे रही है.

यह भी पढ़ें:   एशेज से पहले अब ब्राड की सलाह...
Loading...
loading...

इस दौरान कैंप में पहले चरण में कुल 33 खिलाड़ियों को रिकवरी टेस्ट से होकर गुजरना पड़ रहा है.साथ ही टीम के साइंटिफिक सलाहकार वेन लैम्बार्ड के निगरानी में ऐरोबिक समेत कुछ खास तरह के एक्सरसाइज करवाए जा रहे हैं.

यो-यो टेस्ट के शुरुआती दौर में खिलाड़ियों के फिटनेस स्कोर से कोचिंग स्टाफ बहुत ज्यादा खुश हैं.इस टेस्ट में खिलाड़ियों का अधिकतम स्कोर 21.1, जिस तक चार खिलाड़ी पहुंचने में सफल रहे.वहीं, टेस्ट में 17.7 सबसे न्यूनतम स्कोर रहा.

Click Here
पढ़े और खबरें
Visit on Our Website
यह भी पढ़ें:   पब वाले काण्ड पर भड़के वॉर्नर
Loading...
loading...