युवा जब करवट लेता है तो इतिहास बदलता है

यूपी के CM योगी आदित्यनाथ ने बोला कि राष्ट्र के युवाओं ने जब भी करवट बदली है तो राष्ट्र का इतिहास बदल गया है. युवाओं ने ही राष्ट्र की गौरवगाथा लिखी है. ग्रेटर नोएडा के जीबीयू में युवा महोत्सव के शुरुआत पर वे विद्यार्थियों को संबोधित कर रहे थे.

सम्बोधन की आरंभ उन्होंने करीब 11:30 बजे करते हुए बोला कि कोने-कोने से आए युवाओं से राष्ट्रकी उभरती हुई तस्वीर दिख रही है. विश्व में हिंदुस्तान की पहचान युवाओं ने बनाई है. 35 साल तक की आयु युवाओं की है. यह आयु कुछ कर गुजरने की होती है. बदलाव करने की होती है.

युवा हार-जीत, ज़िंदगी मरण का ध्यान दिए बिना कोशिश करता है  सफलता मिलती है. श्रीराम ने जब हिंदुस्तान से अन्याय समाप्त करने का संकल्प लिया था तब वे युवा थे. मथुरा से अन्याय समाप्त करने के लिए श्रीकृष्ण ने संकल्प लिया था तब वे भी युवा थे.

शंकराचार्य ने भी 32 साल की आयु में समाधि ली थी. उससे पहले धार्मिक जागरण कर राष्ट्र के चारों में मठ स्थापित किया था. महाराष्ट्र के संत ज्ञानेश्वर ने 35 साल की आयु में ज्ञानेश्वरी की रचना की थी.

स्वामी विवेकानंद ने भी युवावस्था में ही हिंदुस्तान के वेदों को वैज्ञानिक तरीके से रखकर पूरी संसारको जोड़ने का कोशिश किया था. अगर आधुनिक हिंदुस्तान को जानना है तो स्वामी विवेकानंद को पढना होगा.

यह भी पढ़ें:   फारूक अब्दुल्ला व ऋषि कपूर पर दायर हुआ मुकदमा

छात्र-छात्राओं का आभार जाहीर किया

योगी ने बोला कि यह जरूरी नहीं है कि आदमी कितना जीता है, बल्कि यह जरूरी है कि उसके जीने का उपाय क्या है. सुभाषचंद्र बोस, सरदार भगत सिंह, रामप्रसाद बिस्मिल, महारानी लक्ष्मीबाई, वीर सावरकर ने युवावस्था में ही राष्ट्र की गौरवशाली गाथा लिख दी.

Loading...
loading...

युवा जब करवट लेता है तो इतिहास बदलता है. ब्रेन लिपि का अविष्कार 16 साल के युवक ने किया था. आइंस्टीन का सिद्धांत 23 साल की आयु में आ चुका था. उन्होंने बोला कि 2022 में आजादी की 75वीं वर्षगांठ मनाएंगे.

हमें गरीबी, बेरोजगारी, दरिद्रता, आतंकवाद, करप्शन से मुक्त हिंदुस्तान का निर्माण करना है. हमें संकल्प से सिद्धि की तरफ बढ़ना होगा. 5000 साल पुराने हिंदुस्तान को जानना है तो स्वामी रामकृृष्ण परमहंस को  1500 साल आगे के हिंदुस्तान को जानना है तो स्वामी विवेकानंद के विचारों को जानना होगा.

उन्होंने प्रोग्राम में राष्ट्र के कोने-कोने से आए विद्यार्थियों के प्रति आभार जाहीर किया. प्रोग्राम में 50 प्रतिशत छात्राओं को देखकर मुख्यमंत्री ने महिला सशक्तिकरण की तरफ कदम बढ़ने की बात कही.योगी ने अच्छा 12 बजे तक युवा महोत्सव को संबोधित किया.

इंडोर स्टेडियम का चक्कर लगाते हुए वे मंच पर पहुंचे. उन्होंने उल्लेखनीय काम करने वाले अलग-अलग राज्यों के युवाओं को सम्मानित भी किया. अंत में केंद्रीय खेल मंत्री कर्नल हर्षवर्धन सिंह राठौड़ ने युवाओं को स्वच्छ हिंदुस्तान का संकल्प दिलाया.

Click Here
पढ़े और खबरें
Visit on Our Website
यह भी पढ़ें:   डेढ़ वर्ष के पोते के साथ घर के बाहर टहल रहे थे दादा
Loading...
loading...