RBI ने बंद की सिक्कों की छपाई

नई दिल्ली: अब राष्ट्र में सिक्कों की छपाई बंद कर दी गई है राष्ट्र की चारों टकसाल ने इनके उत्पादन का कार्य रोक दिया है दरअसल, टकसालों में सिक्कों का ज्यादा भंडार होने की वजह से इनकी छपाई बंद की गई है सूत्रों के मुताबिक, नोटबंदी के दौरान लोगों की ओर से बैंकों में जमा कराई करेंसी के चलते भारतीय रिजर्व बैंक टकसाल से कम सिक्के उठा रहा है इसके चलते टकसाल में सिक्कों की मात्रा ज्यादा हो गई है इसी के चलते सिक्के बनाने पर रोक लगा दी गई है सिक्यॉरिटी प्रिंटिंग एंड मिंटिंग कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया के पास मुंबई, कोलकाता, हैदराबाद  नोएडा में टकसाल हैं

तत्काल असर से रोका उत्पादन
मुंबई मिंट के इंटरनल नोटिस में बोला गया, ‘एसपीएमसीआईएल से मिले आदेश के अनुसार इंडिया सरकार मिंट, मुंबई में सर्कुलेशन कॉइंस का उत्पादन तत्काल असर से रोक दिया जाएगा ‘ हालांकि, सिक्का का उत्पादन रुकने से आम पब्लिक को कोई कठिनाई नहीं होगी क्योंकि, भारतीय रिजर्व बैंक के पास पर्याप्त सिक्के नहीं हैं 24 नवंबर 2016 को भारतीय रिजर्व बैंक के पास करीब 1, 2, 5 10 रुपए के 676 करोड़ रुपए मूल्य के सिक्के थे

ये है इसका वास्तविक कारण
इकोनॉमिक टाइम्स के मुताबिक, भारतीय रिजर्व बैंक के एक सीनियर ऑफिसर ने बोला कि टकसालों से सिक्के इसलिए कम उठाए जा रहे हैं क्योंकि, भारतीय रिजर्व बैंक के कोषागार में पर्याप्त स्थान ही नहीं है कोषागार में पुराने 500  1000 रुपए के नोट भरे हैं नवंबर 2016 में नोटबंदी के चलते उस वक्त सर्कुलेशन में रहे नोटों का करीब 85 पर्सेंट भाग गैरकानूनी करार दिया गया था

यह भी पढ़ें:   बढ़ते एनपीए के लिए बड़े चूककर्ता जिम्मेदार...
Loading...
loading...

कर्मचारियों को हुआ नुकसान
टकसालों में सिक्के ढलाई का कार्य रोकने से कर्मचारी को नुकसान हुआ है  इससे वे खुश नहीं हैंदरअसल, कार्य रुकने से कर्मचारियों का ओवरटाइम समाप्त हो गया है मुंबई मिंट के नोटिस में बोला गया है कि मिंट में अब से सामान्य वर्किंग आवर्स रहेंगे अगले आदेश तक कोई ओवरटाइम नहीं होगा

नोएडा टकसाल में 2.53 अरब रुपए के सिक्के
नोएडा यूनिट के स्टॉक में करीब 2.53 अरब रुपए के सिक्के मौजूद हैं लेकिन, भारतीय रिजर्व बैंक ने इन्हें लेना बंद कर दिया है भारतीय रिजर्व बैंक की 2016-17 की सालाना रिपोर्ट में बताया गया है कि सर्कुलेशन में मौजूद सिक्कों की वैल्यू 14.7 पर्सेंट बढ़ी है इनमें 1  2 रुपए के सिक्कों का भाग69.2 पर्सेंट था भारतीय रिजर्व बैंक 5  10 रुपए के नोटों के बजाय इनके सिक्कों के उपयोग को बढ़ावा दे रहा है क्योंकि, कागज के मुकाबले मेटल ज्यादा लंबा चल सकता है

Click Here
पढ़े और खबरें
Visit on Our Website
यह भी पढ़ें:   अपने उपभोक्ताओं के लिए रिलायंस जियो आज करेगा नई घोषणाएं...
Loading...
loading...