गर्भवती महिला की मौत के बाद थमाया 18 लाख का बिल

एशियन अस्पताल में बुखार से पीड़ित गर्भवती महिला की मौत के बाद उसके परिजनों को 18 लाख रुपये का बिल थमाने के मामले में सेहत विभाग ने पांच सदस्यीय एसआईटी गठित कर दी है. पीड़ित परिजनों का आरोप है कि पैसे नहीं जमा करवाने पर उपचार में देरी के कारण उनकी बेटी की मौत हुई.बृहस्पतिवार देर शाम तक एसआईटी अस्पताल में मामले की जांच में जुटी रही  रिकॉर्ड को कब्जे में लिया.

पिछले दिनों एशियन अस्पताल में उपचार के दौरान हुई महिला श्वेता  उसके गर्भ में पल रहे बच्चे की मौत के बाद बृहस्पतिवार को परिजनों ने बार कांउसिल ऑफ पंजाब एवं हरियाणा की निगरानी कमेटी के मनोनित सदस्य वकील शिवदत्त वशिष्ठ के नेतृत्व में जिला उपायुक्त अतुल कुमार को ज्ञापन सौंपकर कार्रवाई की मांग की.

यह भी पढ़ें:   किसानों को मिलने वाला है एक तोहफा, जाने क्या है वो...
Loading...
loading...

जिला उपायुक्त ने सिविल सर्जन डॉ गुलशन अरोड़ा को कार्रवाई करने के आदेश दिए. इस पर अरोड़ा की अध्यक्षता में पांच सदस्यीय एसआईटी का गठन किया गया है. टीम में एसडीएम प्रताप सिंह, डिप्टी सीएमओ डॉ रमेश, आईएमए के डॉ सुरेश अरोड़ा और डॉ गीता पालीवाल शामिल हैं.

डॉ अरोड़ा ने बताया कि टीम ने टीम ने अस्पताल जाकर श्वेता से संबंधित सारा रिकॉर्ड जब्त कर लिया है  जांच प्रारम्भ कर दी है. उन्होंने बताया कि जांच के बाद ही वे कुछ बता सकेंगे.

Click Here
पढ़े और खबरें
Visit on Our Website
यह भी पढ़ें:   जनता के लिए सिरदर्द बनता जा रहे 10 रुपए के ये सिक्के
Loading...
loading...