मासूम मोहब्बत की नृशंस हत्या

देश में आज भी इज्ज़त के नाम पर प्रेमी जोड़ों की बलि चढ़ाई जा रही है ऑनर किलिंग के किस्से राष्ट्र के लगभग हर कोने से सुनाई देते हैं अपनों के हाथों, अपनों की मर्डर के इस सिलसिले में एक  किस्सा जुड़ा उन दो मासूमों का, जो पड़ोस में रहते थे  प्रतिदिन खिड़की से एक दूसरे को देखा करते थे खुह्बू  योगेश नाम के इन प्रेमियों को खुशबू के परिवार ने मौत के घाट उतार दिया

आखिरकार खुशबू  योगेश ने तय किया कि अब बाकी ज़िंदगी साथ बिताएंगे योगेश  खुशबू ने 15 नवंबर 2017 को अपने घरवालों से अपने संबंध के बारे में बताया, पर घरवालों के रजामंद ना होने के कारण दोनों 16 नवंबर 2017 को घर से भाग गए रांची पहुंच गए पर दोनों का साथ पूरी आयु का नहीं था बल्कि केवल 3 दिनों का था खुशबू के परिवारवालों ने उन्हें ढूंढ लिया  जबरन धनबाद ले आए इसके बाद 19 नवंबर को प्रेमी योगेश की डेड बॉडी रेलवे पटरी पर मिली उसके घरवालों ने खुशबू के परिवार पर मर्डर का आरोप लगाया है पर योगेश की मर्डर के बाद खुशबू का अंजाम भी योगेश की तरह हुआ 9 जनवरी 2018 को खुशबू की जली हुई डेड बॉडी उसके मामा के घर के किचन से बरामद हुई

यह भी पढ़ें:   ओझाओं के बहकावे में आके तीन महिलाओं ने एक महिला की सिर कूचकर हत्या कर दी...
Loading...
loading...

मासूम मोहब्बत की नृशंस मर्डर ने सबको झकझोर दिया है पड़ोसियों का कहना है कि दोनों का अफेयर 3 वर्षसे था दोनों अपने-अपने घर की खिडकी से एक दूसरे को देर तक देखा करते थे

Click Here
पढ़े और खबरें
Visit on Our Website
Loading...
loading...