अब इस राष्ट्र में भी अपनी अकादमी खोलेंगे धोनी

नई दिल्ली : महेंद्र सिंह धोनी सिंगापुर में अपनी क्रिकेट अकादमी खोलने जा रहे हैं 36 वर्षीय पूर्व इंडियन कप्तान महेंद्र सिंह धोनी 20जनवरी को सेंट पैट्रिक स्कूल में इस अकादमी का उद्घाटन करेंगे विदेशों में धोनी का यह दूसरा बडा कोशिश होगा धोनी ने कहा, किसी भी बच्चे के संपूर्ण विकास के लिए खेल एक बड़ी फोर्स है फिट रहने के अतिरिक्त यदि आप ज़िंदगी में लीडरशिप अन्य पहलू सीखना चाहते हैं तो खेलों के जरिये सीखना सबसे सरल है हर बच्चे को आउटडोर गेम्स खेलने चाहिए एमएस धोनी क्रिकेट अकादमी के क्रिकेट प्रतिभाअों को तराशने का ही कार्य नहीं करेगी, बल्कि एक बच्चे को खेलों के जरिये ज़िंदगी में चैंपियन बनना सिखायेगी

पिछले वर्ष नवंबर में धोनी ने पहली ग्लोबल क्रिकेट अकादमी अल कोज, दुबई में प्रारम्भ की थीउन्होंने एसके लिए पैसिफिक स्पोट्र्स क्लब  आरका स्पोट्र्स क्लब के साथ भागीदारी की थी

सिंगापुर क्रिकेट अकादमी के लिए करीकुलम खुद धोनी डिजाइन करेंगे उनके साथ सिंगापुर नेशन वुमंस टीम की कप्तान जीके दिव्या के साथ कई अन्य खिलाड़ी होंगे ईस्ट कोस्ट रोड पर सेंट पैट्रिक स्कूल में स्थित यह अकादमी लगभग हर आयु के बच्चों को अनुभवी कोचों के साथ प्रशिक्षण देगीइसके लिए रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया पिछले वर्ष दिसंबर में ही शुरु हो चुकी है  अब तक 200 बच्चे अपना नाम लिखा चुके हैं सिंगापुर की क्रिकेट अकादमी धोनी के एशिया में इस तरह के वेंचर्स प्रारम्भ करने की आरंभ है वह इस तरह की 12  अकादमियां खोलना चाहते हैं

यह भी पढ़ें:   जानिए अश्विन को क्यों नहीं मिली टीम में जगह...
Loading...
loading...

टॉप ग्रेड से हट सकता है धोनी का नाम 
अभी हाल में खबरें आई थीं कि टेस्ट क्रिकेट से संन्यास ले चुके भारतीय टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को बड़ा झटका लग सकता है मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, प्रशासकों की समिति धोनी का शीर्ष केंद्रीय अनुबंध समाप्त कर सकती है रिपोर्ट में बोला जा रहा है कि ये समिति तीन ग्रेड कॉन्ट्रैक्ट को समाप्त करना चाहती है इसकी स्थान नया फॉर्मूला लागू करना चाहती है समिति अब ए, बी  सी के जगह पर ए प्लस, ए, बी  सी  ग्रेड का फॉर्मूला लागू करना चाहती है नए ग्रेड के मुताबिक जो खिलाड़ी इंडियन टीम के लिए तीनों प्रारूप टेस्ट, वनडे  टी20 खेल रहे हैं उन्हें ए प्लस कैटेगरी में रखा जाएगा

महेंद्र सिंह धोनी अब टेस्ट क्रिकेट से संन्यास ले चुके हैं इंडिया टुडे के अनुसार, ऐसे में उनको एक जगह नीचे ए कैटेगरी में रखा जा सकता है अश्विन  रविंद्र जडेजा भी लंबे समय से सिर्फ टेस्ट टेस्ट टीम का भाग हैं बोला जा रहा है कि उन्हें रोटेशनल प्रणाली के तहत ऐसा हो रहा है

Click Here
पढ़े और खबरें
Visit on Our Website
यह भी पढ़ें:   क्रिकेट के मैदान पर बाल-बाल बचा ये इंडियन खिलाड़ी
Loading...
loading...