माँ ने भेजा ऐसा खत के कंपनी ने बना दिया LEFT-HANDED शार्पनर

इस दुनिया में ज्यादातर लोग अपने right हैंड से ही काम करते है 100 में से लगभग 30 प्रतिशत लोग ऐसे होते है जो left-handed होते है. राइट हैंड की मदद से सभी काम करने में आसानी होती है वैसे तो left-handed लोग भी सभी काम आसानी से कर लेते है लेकिन कई बार कुछ काम ऐसे होते है जो लेफ्ट हैंड से नहीं हो पाते है और उसे राइट हैंड से ही करना पड़ता है. आज हम आपको ऐसी ही एक left-handed लड़की की कहानी बता रहे है.माँ ने भेजा ऐसा खत के कंपनी ने बना दिया Left-Handed शार्पनर

मुंबई की रहने वाली श्वेता सिंह की बेटी जब साढ़े चार साल की थी तब वह left-handed होने के कारण अपनी पेंसिल शार्प नहीं कर पाती थी जिस वजह से वो बहुत रोती थी. श्वेता ने ऑनलाइन left-handed लोगो के लिए स्टेशनरी आइटम ढूंढे. वहां कुछ आइटम तो मिले लेकिन वो बहुत ज्यादा ही महंगे थे. एक छोटे से शार्पनर की कीमत 700 से 1200 तक थी. फिर श्वेता ने पेंसिल कंपनी नटराज और अप्सरा Hindustan Pencils Pvt. Ltd. को एक लेटर लिखकर अपनी समस्या बताई.

यह भी पढ़ें:   नैब संस्था में श्याम के जज्बे से दिव्यांगों का के जीवन मे भरा जा रहा है एक नया रंग
Loading...
loading...

लेटर भेजने के बाद कंपनी के वरिष्ठ अधिकारी ने कुछ ही दिनों में श्वेता की मदद करने के लिए कहा. थोड़े दिन बाद श्वेता को एक लेटर मिला जिसमे उनकी left-handed बेटी के लिए खासतौर से डिज़ाइन किये गए 5 शार्पनर रखे थे. साथ ही उस लेटर में लिखा था कि, ‘हालांकि हम Left-Handed बच्चों के लिए शार्पनर्ज़ का Regular उत्पादन नहीं करते हैं लेकिन अपनी R&D टीम के माध्यम से हम आपके लिए ये विशेष रूप से तैयार शार्पनर्ज़ भेज रहे हैं. इनके नियमित उत्पादन पर हम काम कर रहे हैं और मार्किट में रिलीज़ करते समय हम आपसे ज़रूर संपर्क करेंगे’. इसके बाद श्वेता ने कंपनी का शुक्रिया अदा किया और facebook पर इस लेटर को भी पोस्ट किया था. अब तक श्वेता के इस लेटर को 24000 लाइक्स और 8400 शेयर्स मिल चुके हैं.

Click Here
पढ़े और खबरें
Visit on Our Website
यह भी पढ़ें:   सामने आया गुरू शिष्य के रिश्ते को शर्मसार करने वाला मामला, जिसको सुन उड़ गए सब के होश...
Loading...
loading...