इन 5 खिलाड़ियों ने कोटला टेस्ट को बनाया यादगार

टीम इंडिया  श्रीलंका के बीच तीसरा  आखिरी मैच दिल्ली के फिरोजशाह कोटला में खेला गया.मैच का आखिरी दिन बेहद ही रोमांचक स्थिति में जा पहुंचा था, लेकिन श्रीलंकाई बल्लेबाज अपनी शानदार बल्लेबाजी के कारण इस मैच को ड्रॉ कराने में सफल रहे.  टीम इंडिया ने श्रीलंका को 410 रन का लक्ष्य दिया था, जिसके जवाब में उसने 246/5 रन बनाए. भारतीय टीम को अंतिम दिन जीतने के लिए 7 विकेट की आवश्यकता थी, लेकिन वो पूरे दिन मात्र दो ही विकेट लेने में सफल रही. धनंजय डीसिल्वा ने भारतीय टीम के गेंदबाजों का डटकर सामना किया  अंत तक नाबाद रहे. आइए जानते हैं उन खिलाड़ियों के बारे में जो इस मैच के हीरो रहे |

टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने पहली पारी में 287 गेंदों पर 25 चौकों की मदद से 243 रन की पारी खेली. कोहली के टेस्ट करियर का यह छठा दोहरा शतक था, इसके साथ ही उन्होंने सचिन तेंदुलकर  वीरेंद्र सहवाग के छह दोहरे शतकों की बराबरी की. इसके अतिरिक्त यह कोहली का बतौर कप्तान भी छठा दोहरा शतक था. इसकी साथ वो अब बतौर कप्तान सबसे ज्यादा दोहरे शतक लगाने वाले खिलाड़ी बन चुके हैं. कोहली पहले यह रिकॉर्ड वेस्टइंडीज के महान बल्लेबाज ब्रायन लारा के नाम था. उन्होंने 5 बार यह कारनामा किया था.

टीम इंडिया में करीब एक वर्ष बाद वापसी कर रहे ओपनर मुरली विजय शानदार फॉर्म में हैं. नागपुर टेस्ट के बाद उन्होंने सीरीज में लगातार दूसरा शतक लगाया. विजय ने नागपुर में 221 गेंदों पर 11 चौके  दो छक्कों की मदद से 128 रन  दूसरे टेस्ट में 267 गेंदों 13 चौकों की मदद से 155 रन बनाए. इसी के साथ विजय ने दक्षिण अफ्रीका दौरे से पहले टीम में अपनी मजबूत दावेदारी पेश कर दी है.

यह भी पढ़ें:   कुछ ऐसा है विराट-धोनी का याराना...
loading...
Loading...

इस पूरी सीरीज में फ्लॉप रहे लंकाई बल्लेबाजों ने इस मैच में जोरदार वापसी की. कप्तान दिनेश चंडीमल ने 361 गेंदों पर 21 चौकों  एक छक्के की मदद से सबसे अधिक 164 रन की पारी खेलकर पहली पारी में श्रीलंका को मजबूत स्थिति में पहुंचा. चंडीमल के टेस्ट करियर का यह सर्वोत्तम स्कोर भी है.

नागपुर टेस्ट के दूसरी पारी में ही एंजिलो मैथ्यूज ने शानदार 82 गेंदों पर 61 रन की पारी खेलकर अपने फॉर्म में लौटने के इशारा दे दिए थे. मैथ्यूज ने इस मैच में 268 गेंदों पर 14 चौकों  2 छक्कों की मदद से 111 जरूरी रन बनाए. करीब दो वर्ष बाद टेस्ट में शतक लगाने वाले मैथ्यूज के टेस्ट करियर का यह 8वां शतक था.

इसके मैच के आखिरी हीरो की बात करें तो वो हैं धनंजय डीसिल्वा. पहली इनिंग में 1 रन बनाकर इशांत शर्मा की गेंद पर एलबीडब्ल्यू आउट होने वाले डीसिल्वा ने दूसरी पारी में 219 गेंदों पर 15 चौके  एक छक्के की मदद से नाबाद 119 रन की पारी खेली. हालांकि उन्हें चोट के कारण रिटायर हर्ट होकर पवेलिनय लौटना पड़ा. लेकिन तब तक वो अपना कार्य कर चुके थे, यह उनके करियर का तीसरा टेस्ट शतक था.

Click Here
पढ़े और खबरें
Visit on Our Website
यह भी पढ़ें:   आमिर ने विराट से बोला कुछ ऐसा कि...
Loading...
loading...