तीरंदाजी संघ को स्वीकार है सर्वोच्च कोर्ट का निर्णय

नई दिल्ली: भारतीय तीरंदाजी संघ (एएआई) ने मंगलवार को सर्वोच्च कोर्ट के निर्णय का स्वागत किया है इस निर्णय में शीर्ष न्यायालय ने संघ को अपने संविधान में राष्ट्रीय खेल विकास संहिता (एनएसडीसीआई) के अनुरूप संशोधन करने के आदेश दिए हैं  साथ ही संघ के चुनावों के संचालन के लिए पूर्व मुख्य निर्वाचन आयुक्त एस वाई कुरैशी को नियुक्त करने का आदेश दिया है   एएआई के अध्यक्ष तारलोचन सिंह ने एक लेटर में संघ के सदस्यों को कहा, ‘जैसे कि आप जानते हैं कि एएआई ने उच्च कोर्ट के आदेश के विरूद्ध अपील की थी  इस मामले को सर्वोच्च कोर्ट में ले जाया गया  अब अंतिम निर्णय सुना दिया गया है

तारलोचन ने कहा, “मैं आपको यह बताकर बेहद खुश हूं कि एएआई द्वारा लागू किए गए संविधान को सामान्य निकाय मीटिंग में स्वीकार कर लिया गया है हालांकि, इसमें एक स्थिति जोड़ी गई है, जिसके अनुसार एएआई को खेल मंत्रालय द्वारा सुझाए गए चार अन्य खंड शामिल करने होंगेन्यायालय ने बोला है कि प्रशासक कुरैशी इन खंडों को संविधान में एक हफ्ते के भीतर शामिल करेंगे  चार हफ्ते के भीतर चुनावों का आयोजन करेंगे ”उन्होंने कहा, “हम इस बात से खुश हैं कि सर्वोच्च कोर्ट ने हमारी सामान्य तीन बैठकों  दो चुनावी बैठकों को न आयोजित करने की अपील को स्वीकार कर लिया है. अब कर्मचारियों की नियुक्ति के लिए एक मीटिंग होगी मैं आपके प्रयासों से खुश हूं ‘ 

यह भी पढ़ें:   BCCI से सुप्रीम न्यायालय ने मांगा जवाब
loading...
Loading...

“तारलोचन ने बोला कि सभी खंडों को संघ द्वारा स्वीकार कर लिया गया है  प्रशासक द्वारा संशोधित संविधान की समीक्षा के बाद इसकी प्रतिलिपि सभी सदस्यों को दे दी जाएगी. सभी तीरंदाजी के विकास हेतु काम कर रहे हैं  ढाका में आयोजित हुए एशियाई चैम्पियनशिप में इंडियनतीरंदाजों के प्रदर्शन से सभी बेहद खुश हैं सर्वोच्च कोर्ट ने सोमवार को एएआई को उसके संविधान में एनएसडीसीआई के साथ मिलकर संशोधन करने का आदेश दिया था मुख्य न्यायाधीश दीपक मिश्रा, न्यायमूर्ति ए एम खानविल्कर  न्यायमूर्ति डी वाय चंद्रचूड़ की पीठ ने यह निर्णय सुनाया था

 

यह भी पढ़ें:   विजय ने दिल्ली टेस्ट से पहले राहुल-शिखर को लेकर दिया बड़ा बयान
Click Here
पढ़े और खबरें
Visit on Our Website
Loading...
loading...