अमेरिका ने येरुसलम को दी इजरायल की राजधानी के तौर पर मान्यता

वॉशिंगटनअमेरिका के राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने येरुशलम को इजरायल की राजधानी के तौर पर मान्यता दे दी है अमेरिकी दूतावास को ऑयल अवीव से येरुशलम शिफ्ट करने का आदेश दिया गया है डॉनल्ड ट्रंप के इस एलान के बाद ब्रिटेन, जर्मनी समेत अरब जगत के नेताओं ने विरोध जताया है ट्रंप ने चुनावों के दौरान किया था वादा डॉनल्ड ट्रंप ने एलान किया, ‘’हम अमेरिकी राजदूत को जेरूसलेम में पुर्नस्थापित करने की घोषणा करते हैं  जेरूसलेम को इजरायल की राजधानी घोषित करते हैं ’’ बता दें कि डॉनल्ड ट्रंप ने अपने चुनावी वादे में येरुसलेम को इजरायल की राजधानी के तौर पर मान्यता देने का वादा किया था

यह भी पढ़ें:   नाॅर्थ कोरिया के हथियारों का निकला तेल
loading...
Loading...

यूरोप  खाड़ी राष्ट्रों में मची हलचल डॉनल्ड ट्रंप के इस निर्णय के बाद यूरोप  खाड़ी राष्ट्रों में हलचल मच गई है आठ राष्ट्रों ने तत्काल मीटिंगबुलाई है जर्मनी की चांसलर एंगेला मर्केल  ब्रिटेन की पीएम थेरेसा मे ने इस निर्णय का विरोध किया है क्या है येरुसलेम की मान्यता? येरुसलेम धार्मिक तौर पर यहूदी, मुस्लिम  ईसाई तीनों ही धर्म के लोगों के लिए बहुत जरूरी है यहां स्थित अल अक्सा मस्जिद को मुसलमान बेहद पवित्र मानते हैं  ईसाईयों की मान्यता है कि येरुसलेम में ही ईसा मसीह को सूली पर चढ़ाया गया था यहां मौजूद टेंपल माउंट यहूदियों के लिए पवित्र स्थान है हांलाकि येरुसलेम को फिलिस्तीन भी अपने भविष्य के देश की राजधानी बताता है डॉनल्ड ट्रंप इस निर्णय को फिलिस्तीन  इजरायल के बीच संबंधों को सुधारने का एक कोशिश बता रहे हैं लेकिन कई राष्ट्र इस निर्णय से नाराज हैं

Click Here
पढ़े और खबरें
Visit on Our Website
यह भी पढ़ें:   लंदन हमले के संदिग्ध आतंकी की पहचान पाकिस्तानी के रूप में हुयी
Loading...
loading...