कैंसर का शिकार होने से बचने व कैंसर से लड़ने के लिए महत्वपूर्ण हैं ये टिप्स

नयी दिल्ली: डॉक्टर्स का कहना है कि खानपान, जीवनशैली में सुधार  समय-समय पर जांच ये तीन तरीका हैं जिनसे कैंसर का शिकार होने से बचा जा सकता है  अगर यह रोग घेर भी ले तो समय रहते उपचार से इससे मुक्त हुआ जा सकता है

loading...
Loading...

डॉक्टर्स ने इस पर कई सुझाव दिए हैं-

  • आयुर्वेद पद्धति रोगी की रोग-प्रतिरोधक क्षमता को इस तरह बढ़ाती है कि कैंसर के जीवाणु दोबारा रोगी के बॉडी पर हावी नहीं हो पाते
  • एडजुवेंट नामक थैरेपी कैंसर के मरीजों को अपनानी चाहिए इस थैरेपी का मूलमंत्र है कि बॉडीकी अपनी एक हीलिंग ताकत होती है पर रोग के हावी हो जाने पर उस ताकत को जगाना महत्वपूर्ण हो जाता है
  • डॉक्टर्स कहते हैं कि अगर आदमी अपने स्वभाव के अनुकूल आचरण करे तो इस रोग से बच भी सकता है इसलिए वह हिपनोटिज्म यानी सम्मोहन के जरिए रोगी को उसकी भीतरी गांठों से बाहर लाकर तन मन आत्मा को एक करने की प्रयास करती हैं इसमें नयी ऊर्जा का संचार होता है  ज़िंदगी के प्रति सकारात्मक नजरिया उसे दोबारा रोग की चपेट में आने से बचाता है
  • सर्जरी के बाद रोगी के अच्छा होने की प्रक्रिया तेज हो इसके लिए चिकित्सक हास्य थैरेपी का प्रयोग करते हैं हंसने से पसलियों से लेकर गले  मस्तिष्क तक की नसें खुल जाती हैं  रक्त का संचार तेज हो जाता है
  • रोजमर्रा के ज़िंदगी में देसी मसालों  मौसमी फल सब्जियों के प्रयोग  योग-व्यायाम पर जोर भी दिया गया
  • हल्दी, अदरक, मेथीदाना, अश्वगंधा, त्रिफला  अजवाइन ऐसी चीजें हैं जो हमारे बॉडी की अग्नि को बनाए रखती हैं  अगर कीमोथैरेपी के साथ इन्हें दिया जाए तो कीमो के अन्य कुप्रभाव  दर्द दोनों ही बहुत ज्यादा कम हो जाते हैं इनसे रोगी में कैंसर की दवा को सुप्रभावी बनाने की क्षमता बढ़ जाती है  उसके बॉडी में कमजोरी नहीं आती
Click Here
पढ़े और खबरें
Visit on Our Website
यह भी पढ़ें:   बरसात के मौसम में बालों का ऐसे रखें खास ख्याल...
Loading...
loading...