विदेश जाकर क्यों सफल हो जाते हैं भारतीय

सफल प्रवासी भारतीयों की कहानियों के बीच उनकी सफलता के राज की भी अक्सर चर्चा होती है। विदेश में भारतीयों का सफलता की दर ज्यादा होती है या नहीं ये तो शोध का विषय है लेकिन नरेंद्र मोदी सरकार में विदेश राज्य मंत्री वीके सिंह ने बुधवार (11 अक्टूबर) को मुंबई में दावा किया कि विदेशी धरती पर भारतीय ज्यादा सफल हैं। मंत्री सिंह ने इस सफलता के पीछे का “राज” भी बताया। बैंकरों के एक आयोजन में बोल रहे वीके सिंह ने कहा विदेश में रहने वाले लोग कम ब्याद दरों पर कर्ज मिलने के कारण अपने विचारों और अवसरों को अमलीजामा पहना पाते हैं। ये कार्यक्रम मुद्रा (माइक्रो यूनिट डेवलपमेंट एंड रिफाइनरी एजेंसी) के प्रचार से जुड़ा था।

यह भी पढ़ें:   बीसीसीआई के पूर्व अध्यक्ष अनुराग ठाकुर से सुप्रीमकोर्ट ने कहा “जाओ माफ किया"

विदेश जाकर क्यों सफल हो जाते हैं भारतीय, नरेंद्र मोदी के मंत्री वीके सिंह ने खोला “राज”

वीके सिंह ने कहा, “विदेश जाने वाले लोग ज्यादा अच्छा करते हैं इसके पीछे सीधा सा कारण है। उन्हें बेहतर मौके मिलते हैं और अपने विचारों को अमलीजामा पहनाने के लिए वित्तीय मदद भी मिलती है। बैंकों की ब्याज दर भी बहुत कम है।” वीके सिंह ने कहा कि मुद्रा योजना युवा एंटरप्रेन्योर को सक्षम बनाने के लिए ही है। वीके सिंह ने दावा किया कि इस योजना के तहत कर्ज हासिल करने के लिए न्यूनतम कागजी कार्यवाही करनी होती है। पूर्व सेनाध्यक्ष वीके सिंह ने ये भी दावा किया कि मुद्रा योजना का लाभ महिला उद्यमियों को ज्यादा मिला है।

यह भी पढ़ें:   कांग्रेस ने गोरखपुर के सरकारी अस्पताल में बच्चों की मौत की घटना की सुप्रीम न्यायालय की निगरानी में जांच कराने की मांग की
Loading...
loading...

वीके सिंह ने कहा कि मुद्रा योजना से किसानों की आत्महत्या पर भी लगाम लग सकती है। सिंह ने कहा कि ज्यादातर किसान कर्ज से परेशान होकर आत्महत्या करते हैं। सिंह ने कहा कि देश में रोजगार के अवसर सीमित हैं इसलिए बैंकों को लोगों को स्वरोगजार के लिए बढ़ावा देना चाहिए ताकि बेरोजगार की दर घटे।

Click Here
पढ़े और खबरें
Visit on Our Website
Loading...
loading...