अपनी मर्जी से आते और जाते हैं चिकित्सक व कर्मचारी

कुशीनगर (अवधेश कुमार यादव): सुकरौली विकास खण्ड में स्थित नया प्राथामिक स्वास्थ्य केन्द्र अहिरौली बाजार का हाल बेहाल है। यहाॅ तैनात चिकित्सक व कर्मचारी अपनी मर्जी से आते और जाते है।इलाज कि आश लिये आये मरीजो को जहाॅ एक ओर विवश होकर झोला छाप चिकित्सकों के वहाॅ जाना पड़ रहा है वही मोलाइजा रिपोर्ट के लिए आने वाले व्यक्तियों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। प्राप्त समाचार के अनुसार सुकरौली ब्लाक के ग्रामीणांचल में स्थित नया प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र अहिरौली बाजार नौकरशाही को भेट चढकर रह गया है। आये दिन ताला लटक रहे इस दो बेड के इस अस्पताल की स्थापना इस उद्देश्य से किया गया था कि ग्रामीणांचल के लोगो को प्राथमिक चिकित्सा की सुविधा स्थानीय स्तर पर मुहैया हो जाऐगी।

किन्तु आज यह केन्द्र विभागीय उपेक्षा का शिकार होकर कर विभागीय नियमों को मुॅह चिढा रहा है। यहाॅ तैनात चिकित्सक व कर्मचारी अपनी मरजी से आते है और जाते है। भरोसेमंद सूत्रों की माने तो यहाॅ वर्तमान में दो चिकित्सक डा0 पंकज कुमार पंडिण्त व डा0 आर.पी. त्रिपाठी तथा एक फार्मासिस्ट व एल.टी. के साथ ही एएनएम व वार्ड ब्याय तैनात है। डा0 आर.पी. त्रिपाठी की सम्बद्धता देवरिया जनपद के किसी अस्पताल में कर दिया गया है। और डा. पंकज कुमार पंडिण्त यहाॅ प्रभारी चिकित्साधिकारी के रूप में तैनात है।

यह भी पढ़ें:   UP के जेवर गैंगरेप मामले में नया मोड़, पीड़िता के बयान से सकते में आई पुलिस
Loading...
loading...

प्रभारी चिकित्साधिकारी यहाॅ कब आते है और कब चले जाते है। यह किसी को नही मालूम। पूरे अस्पताल परिसर में घास-पुस व गन्दगी का अम्बार लगा है। यहाॅ लगी पानी की टंकी महज दिखावा साबित हो रही है। इस बरसाती मौसम में गांव गांव बुखार के वायरल के प्रकोप से आम जन हलकान हो रहे है। किन्तु तैनात प्रभारी चिकित्सा अधिकारी बेखबर हैं। स्थिति यह है कि उम्मीद लिए आये मरीजों को विवस हो कर झोला छाप डाकटरों के वहाॅ जाना पड़ रहा है। स्थानीय लोग का कहना है कि निजाम बदला तो लगा कि इस अस्पताल की व्यस्था भी बदल जाऐगी किन्तु वर्तमान में यहाॅ तैनात चिकित्साधिकारी मनमानी के कारण पिडित व्यक्तियों मुलहिया रिपोर्ट के लिए लगभग 18 किलो मिटर दूर सुकरौली स्थित सीएससी का शरण लेना पड़ता है। संसाधन विहिन व्यक्तियों का मोलाइजा प्रायः अगले दिन ही हो पाता है जिससे न्याय भी प्रभावती होता है। इस बावत जनपद के मुख्य चिकित्साधिकारी से पुछा गया तो उन्होने ने कहा की ममला गम्भीर है। जाॅच करा कर दोषियों के खिलाफ कार्यावाही की जाऐगी।

Click Here
पढ़े और खबरें
Visit on Our Website
यह भी पढ़ें:   बाप ने किया ऐसा काम जिसे सुनकर आपका भी दिल दहल उठेगा
Loading...
loading...