Tuesday , March 26 2019
Loading...

पोस्टमार्टम रिपोर्ट में डॉक्टर ने बताया 12 घंटे पहले हुई हत्या, फिर हुआ ये…

पोस्टमार्टम रिपोर्ट में डॉक्टर ने 12 घंटे पहले हत्या होने की बात कही है, जबकि हत्या करीब 33 घंटे पहले ही चुकी थी। बताइए, ऐसे में न्याय कैसे मिलेगा। मामला हरियाणा के रोहतक का है। शहर की इंदिरा कॉलोनी पुलिस चौकी क्षेत्र में 27 दिसंबर की सुबह हुई निजी कंपनी के कर्मचारी की हत्या के बाद उसके शव की पोस्टमार्टम रिपोर्ट ने परिजनों को चौंका दिया है।

रिपोर्ट में डॉक्टर ने 12 घंटे पहले हत्या होने की बात कही है, जबकि हत्या 33 घंटे पहले ही चुकी थी। परिजनों के मुताबिक, डॉक्टरों ने पोस्टमार्टम रिपोर्ट में 12 घंटे पहले युवक की मौत होने की बात कही है, जबकि शव उस समय शव गृह में रखा हुआ था। ऐसे में उन्होंने सवाल उठाया कि जब रिपोर्ट ही गलत है तो न्याय कैसे मिलेगा।

पुलिस को दी शिकायत कर पोस्टमार्टम रिपोर्ट पर उठाया सवाल
अलीगढ़ के सहारा खुर्द निवासी अजीत ने कहा कि उसका भतीजा जितेंद्र (34) रोहतक के हिसार बाईपास स्थित एक कंपनी में काम करता था। उसकी किसी ने 27 दिसंबर को चाकू घोंप कर हत्या कर दी। पुलिस ने जांच के आधार पर 27 दिसंबर की सुबह करीब छह बजे हत्या होने की बात कही है। शव का 28 दिसंबर की दोपहर करीब तीन बजे पोस्टमार्टम हुआ।

पोस्टमार्टम सिविल अस्पताल के डॉक्टरों के बोर्ड ने किया। इसमें डॉ. दिनेश गर्ग व डॉ. शालू वर्मा शामिल हैं। बोर्ड ने अपनी रिपोर्ट में पोस्टमार्टम के समय से 12 घंटे पहले हत्या होने की बात कही है, जबकि उस समय शव पहले से ही शव गृह में रखा था। उस समय सुबह के करीब चार बजे थे। ऐसे में रिपोर्ट सवालों के घेरे में आती है। कोर्ट में यह रिपोर्ट आरोपियों को फायदा दे सकती है।

loading...