Saturday , May 25 2019
Loading...
Breaking News

भाजपा ईसाई विरोधी पार्टी, ‘पिछले दरवाजे’ से मिजोरम में प्रवेश का प्रयास कर रही है : कांग्रेस

मिजोरम के चंफई में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मंगलवार को दावा किया कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) और भाजपा को भलीभांति पता है कि पार्टी अगले साल होने वाले लोकसभा चुनाव नहीं जीत पाएगी।

मिजोरम के चंफई में पहली चुनावी सभा को संबोधित करते हुए गांधी ने भाजपा और आरएसएस पर राज्य की संस्कृति को तबाह करने की कोशिश का भी आरोप लगाया।

उन्होंने कहा, ‘‘संघ और भाजपा समझते हैं कि मिजोरम में घुसने और यहां की संस्कृति बर्बाद करने के लिए उनके पास यही एक अवसर बचा है। उन्हें पता है कि वे अगला लोकसभा चुनाव नहीं जीत पाएंगे।”

मिजोरम की 40 विधानसभा सीटों के लिए मतदान 28 नवंबर को होगा। यह पूर्वोत्तर में एक मात्र राज्य बचा है जहां कांग्रेस सत्ता में है। उन्होंने दावा किया कि राज्य की मुख्य विपक्षी पार्टी मिजो नेशनल फ्रंट (एमएनएफ) आगामी चुनाव में भाजपा की साझेदार है।

कांग्रेस आरोप लगा रही है कि एमएनएफ और भाजपा त्रिशंकु विधानसभा की स्थिति में चुनाव के बाद गठबंधन करेंगे। हालांकि दोनों ही दल इस दावे को खारिज कर चुके हैं।

सरकार ने विपक्षी दल के इन आरोपों को खारिज किया है। गांधी ने दावा किया, ‘‘मोदी सरकार योजना आयोग, आरबीआई, सीबीआई और निर्वाचन आयोग के कामकाज में हस्तक्षेप कर रही है। उच्चतम न्यायालय के चार न्यायाधीशों ने कहा था कि वे सरकारी हस्तक्षेप की वजह से अपना काम नहीं कर सकते।”

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, ‘‘राज्यपाल या किसी विश्वविद्यालय का कुलपति बनने के लिये संघ का आदमी होना पर्याप्त योग्यता है।” इससे पहले दिन में चंफई में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, ‘‘नरेंद्र मोदी ने व्यक्तिगत रूप से 30,000 करोड़ रूपये अनिल अंबानी को दिये। यह पूरे देश में मनरेगा के लिये एक साल का खर्च है।”

गांधी ने कहा कि भारत और फ्रांस के बीच समझौते के तथ्य पूर्व फ्रेंच राष्ट्रपति ने बताए थे। राहुल ने आरोप लगाया कि मोदी ने संप्रग के 526 करोड़ रूपये प्रति विमान की कीमत के मुकाबले 1600 करोड़ रूपये प्रति विमान की कीमत तय की वह भी इस शर्त पर कि, ‘‘ठेका सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी एचएएल के बजाए अनिल अंबानी को दिया जाएगा।”

उन्होंने चंफई में कहा, ‘‘यहीं से नरेंद्र मोदी को मार्केटिंग के लिये सारा रूपया मिलता है। जब भी आप मोदी को अगली बार टीवी पर देखें तो याद रखिये यह आपका और भारतीय वायुसेना का पैसा है।” उन्होंने दावा किया कि राज्य की मुख्य विपक्षी पार्टी मिजो नेशनल फ्रंट (एमएनएफ) आगामी चुनाव में भाजपा की साझेदार है।

उन्होंने कहा, ‘‘संघ और भाजपा समझते हैं कि मिजोरम में घुसने और यहां की संस्कृति बर्बाद करने के लिए उनके पास यही एक अवसर बचा है। उन्हें पता है कि वे अगला लोकसभा चुनाव नहीं जीत पाएंगे।”

वहीं, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह मध्य प्रदेश चुनाव में व्यस्त कार्यक्रम के बावजूद मिजोरम पहुंचे। राहुल गांधी और अमित शाह का मिजोरम पहुंचना इस छोटे से राज्य के राजनीतिक महत्व को भी दिखाने वाला है।

बता दें कि मिजोरम में कांग्रेस दस सालों से लगातार सत्ता में है। इस बार भाजपा वहां सभी 40 सीटों पर चुनाव मैदान में है। लिहाजा भाजपा मिजोरम में चुनाव को काफी गंभीरता से ले रही है।

loading...