Wednesday , October 17 2018
Loading...
Breaking News

4 बार की ओलंपिक चैंपियन जिमनास्ट बाइल्स यौन उत्पीड़न शिकार हुई

दुनिया भर में चल रहे ‘मी टू’ अभियान (यौन उत्पीड़न के विरूद्ध अभियान) की आरंभ होने के बाद अब खेल जगत भी इसकी चपेट में आ गया है अमेरिका की महिला जिमनास्ट सिमोन बाइल्स ने अपने साथ हुए यौन उत्पीड़न की कहानी बयां की है चार बार की ओलंपिक चैम्पियन बाइल्स ने बोला है कि वह भी जिमनास्टिक टीम के चिकित्सक लैरी नासर द्वारा यौन उत्पीड़न का शिकार हुई थी  अब इसके बारे में बात करने से उन्हें राहत  मजबूती मिलती है  

बीबीसी की रिपोर्ट के अनुसार, बाइल्स उन 160 स्त्रियों में शामिल हैं जिनका कि नासर ने यौन उत्पीड़न किया था नासर को इस साल जनवरी में 175 वर्ष तक की सजा हुई थी

Loading...

21 वर्षीय बाइल्स ने कहा, “यह बहुत कठिन था, लेकिन मुझे लगा कि अगर मैं अपनी कहानी बता सकती हूं तो इससे अन्य लोग भी अपनी-अपनी कहानी को बताने के लिए प्रोत्साहित होंगे ”

loading...

वर्ष 2016 में रियो ओलम्पिक में चार गोल्ड  एक ब्रॉन्ज मेडल जीत चुकीं बाइल्स ने कहा, “मैं उन कई पीड़ितों में से एक हूं जिनका नासर ने यौन शोषण किया मैं हाल के दिनों में टूट-सी गई हूं मैं जितना अपनी आवाज दबाने की प्रयास करती हूं उतना मेरा दिमाग चीखने को कहता है मैं अब अपनी कहानी कहने से डरुंगी नहीं ”

बता दें कि  अमेरिका की ओलिंपिक, 2000 की महिला टीम की सदस्य सहित दो जिम्नास्टों ने आरोप लगाया था कि लंबे समय तक अमेरिकी जिम्नास्टिक टीम के चिकित्सक रहे लैरी नासर ने उनका यौन उत्पीड़न किया

बर्खास्त किए जाने से पहले तक 53 वर्ष के लैरी ने दशकों तक जिम्नास्टिक संघ के साथ कार्य किया उनके विरूद्ध न्यायालय में मुकदमा दायर किया गया था, जिसके अनुसार उन्होंने युवा खिलाड़ी के शानदार करियर के दौरान शारीरिक थेरेपी के नाम पर उनके साथ आपत्तिजनक हरकतें की

 

जिमनास्ट सिमोन बाइल्स के अतिरिक्त एक दूसरी जिम्नास्ट ने भी नासर पर आरोप लगाए थे दूसरी जिम्नास्ट राशेल डेनहोलांडर केंटुकी के लुईसविले की रहने वाली थीं  उन्होंने इंडियानापोलीस स्टार खबर लेटर से बोला था कि लैरी ने साल 2000 में मिशिगन यूनिवर्सिटी में कमर के दर्द के इलाज के दौरान उनका यौन उत्पीड़न किया लैरी वहां फैकल्टी सदस्य थे

Loading...
loading...