Thursday , December 13 2018
Loading...

बिहार- की बेबी रानी बृहस्पतिवार के दिन बनी कनाडा की हाई कमिश्नर…

बिहार में जमुई की 19 वर्षीय बेबी रानी के लिए बृहस्पतिवार का दिन कभी भूलने वाला था. उन्हें अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस के मौका पर एक दिन के लिए कनाडा का हाई कमिश्नर बनाया गया था.
DJL¶FÀFÔ°F´F¼S ¸FZÔ VFFÔd°F ÀFd¸Fd°F IYe ¶F`NXIY IYS°FZ ±FF³FF ´Fi·FFSXe CXQ¹F I¼Y¸FFS
विज्ञापन

बमुश्किल साढ़े चार फीट की बीए प्रथम साल की छात्रा बेबी का हौसला बहुत ऊंचा है. उन्होंने अपने गांव  आसपास के इलाकों में पिछले नौ वर्ष के दौरान बालिकाओं के शैक्षणिक, आर्थिक सामाजिक विकास के लिए बहुत ज्यादा कार्य किया है.

बेबी रानी कहती हैं कि अब उनके गांव की लड़कियां न सिर्फ पढ़-लिख रही हैं बल्कि अपने पैरों पर भी खड़ी भी हो रही हैं. बतौर कनाडा की हाई कमिश्नर, बेबी ने गुरुग्राम के एक स्कूल का दौरा किया. यहां उन्होंने राष्ट्र में बालिकाओं की स्थिति पर चर्चा की. शाम को उन्होंने दिल्ली में आयोजित एक समारोह में भाग लेकर बालिकाओं का हौसला बढ़ाया.

Loading...

हालांकि, समारोह में मुख्य मेहमान फिल्म स्टार अनिल कपूर थे लेकिन लोगों का ध्यान बेबी उनके जैसी 18 अन्य लड़कियों पर ही था जो अलग-अलग राष्ट्रों की एक दिन के लिए राजदूत बनाई गईं थीं. समारोह की थीम ‘हम बराबर हैं’ थी. कनाडा हाई कमीशन ने अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस पर दिल्ली के अतिरिक्त मुंबई, बंगलूरू, मध्य प्रदेश  अहमदाबाद में भी प्रोग्राम आयोजित किए. मुंबई में इस मौका पर छत्रपति शिवाजी टर्मिनस, नेशनल गैलरी ऑफ मॉडर्न आर्ट जैसी कई मशहूर इमारतें गुलाबी रोशनी में नहाई थीं.

loading...
विज्ञापन
आगे पढ़ें

कनाडा की 1000 संस्थाएं और कंपनियां हिंदुस्तान में सक्रिय

कनाडा के हाई कमिश्नर नादिर पटेल ने अमर उजाला से वार्ता में बोला कि हमारा राष्ट्र स्त्रियों के उत्थान के लिए लगातार कार्य कर रहा है. कनाडा की 1000 से अधिक संस्थाएं  कंपनियां हिंदुस्तानमें बालिकाओं के लिए कार्य कर रही हैं. हिंदुस्तान से पढ़ाई के लिए कनाडा जाने वाले विद्यार्थियों में भी लड़कियों की संख्या पिछले कुछ समय में बहुत ज्यादा बढ़ी है. कनाडा गवर्नमेंट उनको स्कॉलरशिप के माध्यम से मदद करने की प्रयास करती है.
Loading...
loading...