Thursday , December 13 2018
Loading...

चुनाव को देखते हुए बस्ती में 1015 करोड़ की परियोजनाओं का शिलान्यास 

डा.राधेश्याम द्विवेदी

बस्तीः केन्द्रीय भूतल परिवहन मंत्री नितिन गड़करी एवं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 1015 करोड़ की परियोजनाओं का शिलान्यास किया गया। जिसमें ऐतिहासिक रामजानकी मार्ग प्रमुख है। इस अवसर पर विशाल जनसभा को सम्बोधित करते हुये नितिन गड़करी ने कहा कि देश को विकास के रास्ते पर ले जाने के लिये किसानों और नौजवानों का खुशहाल होना जरूरी है। यह तभी होगा जब देश की अर्थनीति उस स्तर की होगी। किसानों की आय बढ़ाकर और नौजवानों को रोजगार के अवसर देकर ही ये सपना पूरा किया जा सकता है। पूर्व की सरकारों की अर्थनीति सिर्फ सरकारी खजाना खाली करने की थी, भाजपा खर्च के साथ आय बढ़ाने की नीतियों पर अमल करती है। यही कारण है कि सुगर मिलों को एथेनॉल की पालिसी से जोड़ा जा रहा है। ऐसा हुआ तो किसानों को सही समय पर गन्ने का दाम मिलेगा, मिलों की आय बढ़ेगी और हजारों नौजवानों को रोजगार मिलेगा। केन्द्रीय मंत्री ने नये भारत का सपना दिखाते हुये कहा कि वह दिन दूर नही जब बाइक और ऑटो एथेनॉल से चलने लगेगी। नागपुर में 35 बसें इसी फार्मूले पर चल रही हैं जो पूरे देश के लिये एक उदाहरण है।

Loading...

गडकरी ने कहा विकास के लिये अच्छी सड़के जरूरी हैं, 50 साल में उतने रास्ते नही बने जितने भाजपा सरकार ने पांच साल में बना दिये। 12 जलमार्गो का काम शुरू हो गया है। उन्होने गंगा नदी के प्रदूषित जल को उपयोग में लाकर इससे ईंधन बनाने की बात कही। कहा वाराणसी से हल्दिया तक 5400 करोड रूपया खर्च कर जलमार्ग बनाया जा रहा है। आने वाने दिनों में देश को ऐसी इकोनॉमी देंगे कि भारत की वैश्विक पटल पर महिमा और गरिमा बढ़ेगी। 2014 में जहॉ 7611 किमी. राष्टीय राजमार्ग थे वहीं 14800 किमी. राष्टीय मार्ग का निर्माण कर विकास की गति को तेज किया गया है। हमारा उद्देश्य सड़को के माध्यम से देश की तस्वीर को बदलना है।

loading...

आज इसी कड़ी में छावनी से लेकर रामपुर तक 55 किमी. लागत 315 करोड़, रामपुर से सिकरीगंज तक 35 किमी, लागत 250 करोड़ का चौड़ीकरण एवं सुदृढीकरण, रिंग रोड़ फेज 01 लागत 450 करोड़ लम्बाई 14 किमी. तथा फैजाबाद माझी घाट तक घाघरा नदी पर राष्ट्रीय जल मार्ग 40 किमी का शिलान्यास किया गया। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कुछ लोग यूपी का माहौल बिगाड़ने की कोशिश करते हैं, उन्हे यह समझना चाहिये कि संवाद से समस्याओं के हल निकालेगे तभी हम अगली पीढ़ी को उज्ज्वल भविष्य दे पायेंगे। उन्होने कहा प्रधानमंत्री के नेतृत्व में 1,20,000 किमी सड़कों को गड्ढा मुक्त करने के बाद तहसील मुख्यालयों को टु लेन से जोड़ने का महत्वपूर्ण कार्य किया गया।

उन्होने आगामी सत्र में मुण्डेरवा मिल चलाने का वादा किया। यह भी कहा कि अब सुगर मिलों को एथेनाल पालिसी से जोड़ा जा रहा है, घाटे के कारण अब मिलें बंद नही होंगी बल्कि बिजली का उत्पादन कर उनकी आय बढ़ाई जायेगी जिससे गन्ने का मूल्य सही समय से मिले। उन्होने स्वच्छता अभियान की सराहना करते हुये कहा कि देश की आजादी के बाद पहली बार किसी ने स्वच्छता को अभियान के तौर पर लिया जिसका नतीजा ये है कि ढेंगू, चिकनगुनिया, डायरिया, मलेरिया, काला ज्वर आदि बीमारियां काफी हद तक कम हो गयी हैं। उन्होने 30 नवम्बर तक यूपी को ओडीएफ घोषित करने की बात कही। योगी ने कहा कि पूर्व की सरकारों ने परिवारवाद, जातिवाद और भाई भतीजावाद चलाकर राजनीति को दूषित कर दिया, भाजपा पहली सरकार है जिसने विकास या योजनाओं का लाभ देने के लिये भेदभाव नही किया। उन्होने कहा यूपी की कानून व्यवस्था ठीक कर यहां निवेशक का माहौल बनाया गया जिससे अनंत संभावनायें जुड़ी हैं। इससे पहले सांसद हरीश द्विवेदी ने उपलब्धियां गिनाईं और कहा बस्ती में विकास देखना है तो राहुल गांधी, मायावती और अखिलेश का चश्मा उतारना होगा। इस कार्यक्रम में विधायक दयाराम चौधरी, अजय सिंह, चन्द्र प्रकाश शुक्ला, रवि सोनकर, संजय प्रताप जायसवाल, जिला अध्यक्ष पवन कसौधन तथा पड़ोसी जनपद के विधायक राम चौहान, राकेश बधेल, सांसद लल्लू सिंह, अरविन्द पाल, दिव्या त्रिपाठी, डा. धर्मेन्द्र सिंह, अज्जू हिन्दुस्थानी, अश्वनी उपाध्याय, संतोष सिंह, सतेन्द्र शुक्ल, अशोक पाल, राकेश श्रीवास्तव, अजय कुमार श्रीवास्तव, रामचरन चौधरी, जगदीश शुक्ल, विवेकानंद मिश्र, अभिनव उपाध्याय आदि मौजूद रहे।

 

Loading...
loading...