Thursday , December 13 2018
Loading...

 प्रेमी ने दबाया गला और पत्नी ने उसके पैर पकड़े, दम घुटने से हो गई मौत

उत्तराखंड के चमोली जिले के पाणा गांव में एक महिला ने प्रेमी के साथ मिलकर पति की हत्या कर उसके शव को खाई में फेंक दिया। घटना का खुलासा तब हुआ जब मृतक के भाई ने पटवारी चौकी में उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करवाई।

महिला का सात माह से प्रेम प्रसंग चल रहा था। मंगलवार को राजस्व पुलिस ने महिला और उसके प्रेमी को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया। जहां से उन्हें जिला कारागार पुरसाड़ी भेज दिया गया।

पाणा गांव के राजस्व उपनिरीक्षक नीरज स्वरूप ने बताया कि 20 सितंबर को जोशीमठ निवासी गौर सिंह ने अपने भाई गुड्डू सिंह (32) पुत्र चंद्र सिंह की गुमशुदगी रिपोर्ट दर्ज करवाई। गौर सिंह ने बताया कि गुड्डू पाणा गांव में अपने ससुराल में ही रहता था।

Loading...

रिपोर्ट दर्ज होने के बाद राजस्व पुलिस ने मामले की जांच शुरू की। एक अक्टूबर को राजस्व पुलिस की टीम पाणा गांव पहुंची और मृतक की पत्नी तुलसी देवी (31) और परिजनों से पूछताछ की।

loading...

पुलिस ने जब तुलसी देवी से गहनता से पूछताछ की तो उसने सच उगल दिया। तुलसी ने पुलिस को बताया कि उसका गांव के ही खिलाफ सिंह के साथ सात माह से प्रेम प्रसंग चल रहा था।

जब पति को दोनों के बीच संबंध का पता चला तो दोनों ने उसे जान से मारने की योजना बनाई। तुलसी ने बताया कि 29 जुलाई की रात को जब गुड्डू अपने कमरे में सोया हुआ था तो खिलाफ सिंह कमरे में घुस और उसका गला दबाया। तुलसी ने उसके पैर पकड़े और दम घुटने से गुड्डू की मौत हो गई। साक्ष्य छिपाने के लिए उन्होंने रात को ही गांव से करीब एक किलोमीटर दूर उसके शव को चट्टान से खाई में फेंक दिया।

राजस्व पुलिस की टीम ने तुलसी देवी की निशानदेही पर खाई में शव की खोज की तो वहां एक मानव पैर का कंकाल पड़ा मिला, जिसे जांच के लिए जिला चिकित्सालय भेज दिया गया। मंगलवार को राजस्व पुलिस ने तुलसी देवी और खिलाफ सिंह को गिरफ्तार कर जिला न्यायालय में पेश किया। न्यायालय ने 12 अक्टूबर तक उन्हें न्यायिक हिरासत में जिला कारागार पुरसाड़ी भेज दिया है।

राजस्व उपनिरीक्षक स्वरूप ने बताया कि तुलसी देवी का दस साल का बालक और छह साल की बेटी है। उसे राजस्व पुलिस ने गांव में उनके परिजनों के सुपुर्द किया। खिलाफ सिंह भी शादीशुदा है।

Loading...
loading...