Monday , December 17 2018
Loading...

न बदमाश मिले, न ही गार्ड का मोबाइल

पंजाब नेशनल बैंक में लूट के प्रयास और डबल मर्डर के चार दिन बाद भी पुलिस को न तो बदमाश मिले और न ही मृतक गार्ड का मोबाइल। इस मामले में पुलिस की थ्योरी जिस एंगल पर चल रही है, उसके लिए मोबाइल मिलना जरूरी है। वहीं पुलिस की चार टीमें शहर के बाहर अलग अलग स्थानों पर दबिश दे रही हैं।

पुलिस जांच में यह पता चला है कि मृतक गार्ड मुकेश यादव की शिफ्ट 17 सितंबर को बदली थी। 17 सितंबर से वह नाइट शिफ्ट कर रहा था। मुकेश मूलरूप से करहल, मैनपुरी का रहने वाला था और नोएडा के हरौला में किराये पर रहता था।

Loading...

मुकेश के साले संजीव ने बताया कि अब तक मुकेश का मोबाइल नहीं मिला है। उन्होंने कहा कि मोबाइल कहां है, इसके बारे में पुलिस भी कुछ नहीं बता रही है। मुकेश के घर में बुधवार को शांति हवन का कार्यक्रम है, इसके बाद तेरहवीं होगी। इसके बाद ही उनका परिवार नोएडा आएगा। अभी तक बैंक, पुलिस या सिक्योरिटी एजेंसी की तरफ से परिवार के लोगों से संपर्क नहीं किया गया है।

loading...

गौरतलब है कि 20 सितंबर की रात सेक्टर-1 स्थित पंजाब नेशनल बैंक में बदमाशों ने दो गार्डों की हत्या कर लूट का प्रयास किया था। यहां पीएनबी की मुख्य शाखा, मंडल कार्यालय व प्रिंटिंग का दफ्तर व स्टोर है।

आज मिल सकती है सफलता
पुलिस की चार टीमें विभिन्न शहरों में दबिश दे रही हैं। इसमें एक टीम के हाथ अहम सुराग लगे हैं। इस टीम का नेतृत्व इंस्पेक्टर रैंक के अधिकारी कर रहे हैं। संभावना जताई जा रही है कि मंगलवार सुबह तक बदमाश टीम के हत्थे चढ़ जाएंगे। खुद एसएसपी सोमवार को दिनभर इस टीम के साथ संपर्क में थे और अपडेट ले रहे थे।

पुलिस की टीमें इस घटना पर काम कर रही हैं। कई अहम सुराग लगे हैं। पुलिस को जल्दी ही बदमाशों को पकड़ने में सफलता मिलेगी।

Loading...
loading...