Thursday , February 21 2019
Loading...
Breaking News

लोन वापस न करना कारोबारी को पड़ा महंगा

लोन रिकवरी के नाम पर एक फाइनेंस कंपनी के चार कर्मचारियों ने गुंडई की। उन्होंने दिल्ली के एक टेंट कारोबारी को कार समेत अगवा कर लिया और करीब 10 किमी दूर एक फार्म हाउस में ले जाकर बंधक बना लिया। कारोबारी से उन्होंने 95 हजार रुपये और लैपटॉप भी लूट लिया।

कारोबारी की शिकायत पर सिहानी गेट थाना पुलिस ने तीन को नामजद कर चार लोगों के खिलाफ लूट, अपहरण व मारपीट की धाराओं में रिपोर्ट दर्ज कर ली है। दिल्ली के गाजीपुर निवासी हरीश गुप्ता टेंट, कैटरिंग और इवेंट आर्गनाइजर हैं।

हरीश के मुताबिक शुक्रवार दोपहर करीब एक बजे वह दिल्ली से राजनगर एक्सटेंशन होते हुए एलएलटी के पास एक परिचित से मिलने जा रहे थे। जैसे ही एलिवेटेड रोड से वह राजनगर एक्सटेंशन में कार से उतरे एक स्विफ्ट कार में सवार चार युवकों ने उन्हें ओवरटेक कर रोक लिया।

कार पर लोन की किस्त बकाया थी

हरीश को अगवा कर स्विफ्ट कार में डाल लिया गया और उनकी कार एक युवक ने लूट ली। विरोध करने पर उनसे मारपीट की गई। कारोबारी और उनकी कार को एनएच-24 स्थित बीबी फार्म हाउस ले गए और बंधक बना लिया। किसी तरह वह उनके चंगुल से छूटे और फोन पर पुलिस को सूचना दी।

मौके पर पहुंचे डासना चौकी इंचार्ज ने फार्म हाउस में तैनात गार्ड से पूछताछ की तो पता चला कि संदीप, राहुल, प्रवीन और एक अन्य युवक उन्हें लेकर आए थे। उनकी कार पर लोन की किस्त बकाया थी। इसके चलते फाइनेंस कंपनी के कर्मचारियों ने कार छीन ली थी।

सिहानी गेट पुलिस ने संदीप, राहुल और प्रवीन व एक अज्ञात युवक के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली है। एसएसपी वैभव कृष्ण का कहना है कि लोन रिकवरी के नाम पर इस तरह गुंडागर्दी नहीं की जा सकती। जल्द ही आरोपियों की गिरफ्तारी की जाएगी।

loading...