Wednesday , October 17 2018
Loading...
Breaking News

लड़को को लगता है कि लड़कियों को सेक्स नहीं चाहिए, यह बात सरासर गलत

आप और आपकी गर्लफ्रेंड एक पार्टी के दौरान मिले और आपको तभी लगा था कि वो आपको पसंद करती हैं- और आपके साथ सेक्स भी करना चाहती हैंI पहली बात तो सही निकली थी लेकिन दूसरी के बारे में आप इतने विश्वस्त नहीं थे, वैसे भी रिश्ते की शुरुआत में यह कह पाना मुश्किल होता हैI

अक्सर ऐसा ही होता हैI पुरुष जब भी किसी लड़की से मिलते हैं, उन्हें यह लगने लगता है कि वो उनके साथ सेक्स करना चाहती है इसका स्पष्टीकरण हमें विकासवाद में मिल सकता है: क्यूंकि अगर एक पुरुष चाहता है कि उसका वंश आगे पढ़े तो उसका फायदा तो उसी में है कि वो यह सोचे कि वो लड़की उसके साथ सेक्स करना चाहती है ना कि यह कि वो उसके साथ सेक्स नहीं करना चाहती, फ़ायदा? अरे बेकार में सेक्स करने का चांस क्यों छोड़ना!

Loading...

तो क्या एक बार रिश्ता शुरू होने के बाद, पुरुष यह भांप सकते हैं कि आज उनके साथी का सेक्स करने का मूड है या नहीं? और महिलाओं का क्या? क्या उन्हें पता चलता है कि उनका साथी सेक्स करना चाहता है या नहीं?

loading...

काम वासना का पैमाना

इन सवालों के जवाब ढूँढ़ने के लिए कनैडियन शोधकर्ताओं के द्वारा अलग-अलग उम्र के 200 जोड़ो के ऊपर तीन अध्ययन किये गएI सभी जोड़े एक स्थायी रिश्ते में थे- वो या तो एक दूसरे को डेट करे रहे थे या फ़िर कई सालों से शादीशुदा थेI

जोड़ो को एक सर्वे भरने को कहा गया जिसमें उनसे पूछा गया कि वो कितनी बार सेक्स करते थे और अपने रिश्ते में कितने प्रतिबद्ध और संतुष्ट महसूस करते थेI शोधकर्ता एक बात जानने के ख़ास इच्छुक थे, कि जोड़े अपनी और अपने साथी की कामवासना को कैसे आंकते थेI

परिणाम? पुरुष अक्सर अपने साथी की कामवासना को कम समझते थेI दूसरी ओर औरतें इस बारे में पुरुषों से बेहतर थी- उन्हें समझ आ जाता था कि उनका साथी ‘आज मूड में है या नहीं’!

सेक्स के लिए ‘नहीं’ सुनना बुरा लगता है

पुरुष और महिलाएं अक्सर अपने साथी की कामवासना को नज़रअंदाज़ करते हैं- और वो अक्सर ऐसा इसलिए करते हैं क्यूंकि वो ना नहीं सुनना चाहतेI वैसे बार-बार ना सुनने से अच्छा है कि सेक्स ही ना होI तो यह जानकर बिलकुल आश्चर्य नहीं होता कि एक पुरानी शोध के अनुसार अगर आपको नियमित रूप से सेक्स के दौरान ना सुनना पड़े तो इसका आपके रिश्ते पर बेहद खराब असर पड़ता हैI

परिणामों से यह भी पता चला कि जिन लोगों की कामवासना अधिक होती है वो अपने साथी की कामवासना को कम आंकते हैंI रिसर्च से यह भी पता चला कि पुरुषों की कामवासना महिलाओं की तुलना में अधिक होती है और शायद यही वजह है कि वो अपने साथी की कामवासना को हमेशा कम आंकते हैंI

तो यह समझना कि उनकी साथी को सेक्स नहीं चाहिए, इससे एक पुरुष के रिश्ते पर क्या असर पड़ता है? उन दिनों में जिनमें उनके साथी उनकी कामवासना को कम आंकते हैं, महिलाएं अपने साथी के प्रति और ज़्यादा संतुष्ट और प्रतिबद्ध महसूस करती हैंI लेकिन जब महिलाएं यही करें तो उसका कोई ख़ास असर नहीं पड़ता, यह शायद उन रिश्तों में होता होगा जिनमें महिलाओं की यौनरूचि उनके साथी से ज़्यादा होती है, ऐसा मानना है शोधकर्ताओं काI

Loading...
loading...