Monday , December 10 2018
Loading...

बोर्डिंग स्कूल में कई छात्रों ने छात्रा संग किया दुराचार

देहरादून के एक बोर्डिंग स्कूल में दसवीं की छात्रा के साथ दुराचार का मामला सामने आया है। सोमवार को पुलिस ने स्कूल के डायरेक्टर समेत पांच लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस उनसे मामले की पूछताछ कर रही है।
इस बात का खुलासा तब हुआ जब छात्रा गर्भवती हो गई। दुराचार का आरोप स्कूल के कुछ सीनियर छात्रों पर लगाया जा रहा है। रविवार को प्रकरण जब एसएसपी के संज्ञान में आया तो उन्होंने जांच के निर्देश दिए।

इसके बाद पुलिस एसडीएम विकासनगर और बाल कल्याण समिति के साथ स्कूल पहुंची और मामले की जानकारी जुटाई। स्कूल और हॉस्टल में प्राथमिक जांच के बाद घटना के सही होने के संकेत मिले हैं। पुलिस ने स्कूल और हॉस्टल प्रबंधन से भी पूछताछ की है।

माता पिता के बीच झगड़ा रहता है तो वे दोनों से मिलने भी नहीं आ पाते

घटना दून के ग्रामीण इलाके में स्थित एक बोर्डिंग स्कूल (कक्षा एक से 12 तक) की है। स्कूल में दो सगी बहनें एक ही कक्षा में पढ़ती हैं।

बताया जा रहा है कि उनके माता पिता के बीच झगड़ा रहता है तो वे उनसे मिलने भी नहीं आ पाते हैं। बीते दिनों छोटी बहन की तबीयत खराब हुई तो उसने बड़ी बहन को सारी बात बताई।

Loading...

पता चला कि छात्रा एक माह के गर्भ से है। बताया जा रहा है कि पीड़ित छात्रा ने तीन-चार छात्रों के नाम भी बताए जिन्होंने उसके साथ दुराचार किया था।

loading...

स्कूल में चुपचाप छात्रा का गर्भपात कराने की तैयारी होने लगी

सूत्रों के मुताबिक स्कूल प्रबंधन को जब यह बात पता चली तो उन्होंने भी इसे दबाने का प्रयास किया और चुपचाप छात्रा का गर्भपात कराने की तैयारी होने लगी।

इसी बीच यह मामला एसएसपी निवेदिता कुकरेती के संज्ञान में आ गया। रविवार शाम को उन्होंने तत्काल मामले में एसओ सहसपुर नरेश सिंह राठौर को जांच के निर्देश दिए। इसके बाद एसओ ने बाल कल्याण समिति के सदस्यों और एसडीएम विकासनगर को भी इसकी सूचना दी। शाम करीब सात बजे टीम स्कूल पहुंची और मामले में जानकारी जुटाई।

प्राथमिक जांच में घटना के सही होने के संकेत मिले हैं। सोमवार को छात्रा का मेडिकल कराया जा सकता है। इधर, शिकायत में जिन छात्रों के नाम बताए जा रहे हैं जांच में पता चला है कि वे सभी छात्र इंटरमीडिएट में पढ़ते हैं। हालांकि, देर रात तक पुलिस मामले की जांच में जुटी थी।

Loading...
loading...