Friday , October 19 2018
Loading...
Breaking News

छुट्टी पर आए जवान की आतंकियों ने गोली मारकर की हत्या

दक्षिणी कश्मीर के कुलगाम जिले में आतंकियों ने सेना की टेरिटोरियल आर्मी (टीए) के जवान की सोमवार को गोली मार कर हत्या कर दी। आतंकी मीडियाकर्मी बनकर घर पर पहुंचे थे। 15 सितंबर को मुख्त्यार के बेटे की बाइक एक्सीडेंट में मौत हो गई थी।
वह मंगलवार को उसके होने वाले चौथे में शामिल होने पहुंचा था। पुलिस ने मामला दर्ज कर की जांच शुरू कर दी है। जिले के शुरट गांव में आतंकियों ने टीए की 162 बटालियन के जवान मुख्त्यार अहमद मलिक को उसके घर में घुसकर गोली मार दी।

पारिवारिक सूत्रों के अनुसार दो लोग उसके घर में मीडियाकर्मी बनकर दाखिल हुए। कहा कि उन्हें मुख्त्यार से कुछ बात करनी है। जैसे ही वह बाहर निकले तो उन्होंने उस पर गोलियां बरसाईं।

इसमें वह गंभीर रूप से घायल होकर गिर पड़े। उन्हें तुरंत अस्पताल ले जाया गया, लेकिन डाक्टरों ने मृत लाया घोषित कर दिया। गोलियां चलाने के बाद आतंकी भाग निकले। घटना के तुरंत बाद सुरक्षाबलों ने आस-पास के इलाकों में बड़े पैमाने पर तलाशी अभियान चलाया।

Loading...

इख्वान कमांडर रह चुका है मारा गया जवान

सेना में भर्ती होने से पूर्व मुख्त्यार इख्वान कमांडर भी रह चुका था। वह इलाके में मुख्त्यार गोला के नाम से मशहूर था। जवान को सेना की स्थानीय यूनिट के अधिकारियों ने उसके पैतृक कब्रिस्तान पर श्रद्धांजलि दी। इसके बाद उसे दफ ना दिया गया।

मीडियाकर्मी बनकर हत्यारों के घर में घुसने पर पत्रकारों ने चिंता जताई है। कुलगाम वर्किंग जर्नलिस्ट एसोसिएशन ने बैठक कर इस पर विचार विमर्श किया।

एसोसिएशन के अध्यक्ष तनवीर अहमद ने बताया कि आजकल हर कोई मोबाइल से शूट करता है तो पता नहीं चल पाता कि असली कौन और नकली कौन। फैसला किया गया है कि सभी लोग अब प्रोफेशनल तरीके से कैमरा का इस्तेमाल कर शूट करेंगे। सभी को आई-कार्ड जारी किए जाएंगे।

Loading...
loading...