Monday , December 17 2018
Loading...

जन्मदिन स्पेशल: मुख्यमंत्री से प्रधानमंत्री तक का सफर

प्रधानमंत्री नरेंद्र दामोदरदास मोदी का 17 सितंबर को 68 वां जन्मदिन है। गुजरात के वडनगर में जन्मे मोदी बचपन से ही कुछ अलग करना चाहते थे। अपने पिता के साथ स्टेशन पर चाय बेचने के साथ-साथ अपनी युवा अवस्था में हिमालय की वादियों में भी वे खुद की तलाश में पहुंचे। तब दामोदर दास महज 17 साल के थे।

उसके बाद वे राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़े और देश सेवा में लग गए। वैसे तो प्रधानमंत्री का पूरा जीवन ही देश को समर्पित है लेकिन उनकी जिंदगी से जुड़ी कई ऐसी बातें हैं जिससे आप अनभिज्ञ होंगे। आज हम पीएम मोदी से जुड़ी कई ऐसी बातें आपको बताने जा रहे हैं जिसे पढ़कर आप उन्हें और करीब से जान सकेंगे।

मोदी ने अपनी राजनीतिक पारी की शुरुआत 1975 में इमरजेंसी के दौरान की जब उन्हें गुजरात ‘लोक संघर्ष समिति’ का महासचिव नियुक्त किया गया था। 2001 से 2014 तक नरेंद्र मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री भी रहे। 2014 में वाराणसी से सांसद बने। लोकसभा चुनाव में पूर्ण बहुमत से जीतने के बाद देश के प्रधानमंत्री बनने के साथ ही देश के युवाओं के लिए ‘स्टाइल आइकन’ बन गए।

Loading...

एक ओर राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर हिन्दू राष्ट्रवाद की धारणा और 2002 में हुए गुजरात दंगों में उनकी भूमिका को लेकर अक्सर विवादों में रहे हैं..वहीं दूसरी ओर,  इन बातों को दरकिनार करें तो महान वक्ता होने के साथ-साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक नेकदिल व्यक्ति भी हैं। मोदी को चाहने वालों में सबसे अधिक संख्या युवाओं और बच्चों की है।

loading...

नरेंद्र मोदी एक सीनियर कैमरामैन गोपाल बिष्ट के दाह संस्कार में थे। स्वर्गीय माधवराव सिंधिया की दुर्भाग्यपूर्ण हवाई दुर्घटना में उनके साथ मारे गए पत्रकारों में बिष्ट भी शामिल थे। मोदी दाह संस्कार में ही थे, तभी उन्हें प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी वाजपेई का फोन आया।

देश के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू और स्वर्गीय राजीव गांधी के बाद देश के सबसे स्टाइलिश और स्मार्ट पीएम हैं नरेंद्र मोदी। 15 अगस्त और 26 जनवरी को जब देश आजादी और गणतंत्र का पर्व मनाने में जुटा होता है तब देश का एक वर्ग सिर्फ यह देखना चाहता है कि इस बार पीएम के साफे का रंग क्या होगा, कुर्ते की बाजू कैसी होगी और उसका रंग क्या होगा।
अकसर लोगों के दिल में ख्वाहिश होती है यह जानने की कि चुस्त- दुरुस्त, हमेशा सजग और काम करने वाले अभिनेता- अभिनेत्री और राजनेता खाते क्या हैं। सोशल मीडिया आने के बाद से यह बातें अब छुपी नहीं रह पाती हैं।

अपने आपको हमेशा एक्टिव रखने के लिए देश के सेलिब्रिटी से लेकर राजनेता तक अपने खान-पान से लेकर व्यायाम तक का ध्यान रखते हैं। हमारे देश के प्रधानमंत्री 17 सितंबर को 67 साल के हो जाएंगे।

कहते हैं दान करें तो ऐसे करें कि दाएं हाथ से दिया गया दान बाएं हाथ को न पता चले, लेकिन जब बात बाप बेटी की हो, बेटियां देश में हाशिये पर हों तो बात को दबाना नहीं बताना जरूरी हो जाता है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रशंसकों में बड़ी संख्या युवाओं और बच्चों की है।

बहुत ही कम उम्र से एक सादगीपसंद प्रचारक का जीवन जीने वाले नरेंद्र मोदी के पास कभी भी फ़िल्में देखने का अधिक समय नहीं रहा, लेकिन जब भी उन्होंने कोई फिल्म देखी, उनका दृष्टिकोण थोड़ा अलग ही रहा | जैसा की मोदी ने सेशल्स में टुडे अख़बार को दिए एक साक्षात्कार में स्पष्ट किया था “मेरा सामान्यतः फिल्मों की ओर झुकाव  नहीं है, लेकिन अपनी जवानी के दिनों में मैं फ़िल्में केवल उस उत्सुकता के लिए देखता था जो जवानी में होती है।

Loading...
loading...