Thursday , February 21 2019
Loading...

पेटीएम ने दिया ये बड़ा बयान: हम उपभोक्ताओं का ब्योरा किसी संस्था को नहीं देते

भारतीय स्वामित्व वाली, नियंत्रित और घरेलू कंपनी होने का दावा करते हुए प्रमुख भुगतान कंपनी पेटीएम ने गुरुवार को कहा कि वह अपने उपभोक्ताओं की जानकारी किसी संस्था या इकाई को नहीं देती है और ना ही किसी विदेशी इकाई को इसका उपयोग करने की अनुमति देती है। चीनी ई-कॉमर्स कंपनी अलीबाबा द्वारा पेटीएम की बड़ी हिस्सेदारी लेने के बाद पेटीएम बुधवार को राज्यसभा में मनोनीत सांसद नरेंद्र जाधव द्वारा जताई गई राष्ट्रीय सुरक्षा को खतरे की आशंका जताने पर जवाब दे रही थी। पेटीएम ने कहा कि उसने इसके जवाब में एक गैर बैंकिंग वित्तीय कंपनी (एनबीएफसी) के लाइसेंस के लिए आवेदन किया है।

कंपनी ने कहा, “उपभोक्ताओं की जानकारी से संबंधित अपने दृष्टिकोण को स्पष्ट करते हुए आज पेटीएम की स्वामित्व वाली कंपनी वन97 कम्यूनिकेशन लिमिटेड ने गुरुवार जोर दिया कि कंपनी अपने किसी भी उपभोक्ता की जानकारी कभी किसी तीसरी एजेंसियों, हितधारकों, निवेशकों या किसी विदेशी कंपनी को नहीं देती है।

कंपनी के अनुसार, “पेटीएम अपने उपभोक्ताओं की जानकारी सुरक्षित रखने के लिए एक कदम आगे चलते हुए उनकी सारी जानकारी भारत में स्थित सर्वरों में संरक्षित करती है। कंपनी उपभोक्ता की निजता और सुरक्षा का सम्मान करती है।”

पेटीएम ने कहा कि वह भारतीय स्वामित्व वाली, भारत में नियंत्रित और घरेलू कंपनी है। कंपनी के अनुसार वह उसके किसी निवेशक या किसी विदेशी इकाई को उपभोक्ताओं की जानकारी नहीं देती है।

बयान के अनुसार, “हमारे उपभोक्ताओं की पूरी जानकारी का उपयोग और संरक्षण भारत में ही होता है और इसकी कोई जानकारी किसी विदेशी इकाई को नहीं दी जाती है। उपभोक्ताओं की निजी जानकारी की संप्रभुता के मामले में यह पूर्ण रूप से भारतीय स्वामित्व वाली और भारतीय उपभोक्ताओं वाली कंपनी है।”

loading...