Tuesday , September 25 2018
Loading...
Breaking News

आंख और स्किन की बयां कर देती हैं आपकी सेहत का हाल

आंखों, बालों और स्किन में होने वाले बदलाव हमारी सेहत के बारे में काफी कुछ बता देते हैं। इनकी पहचान कर हम किसी भी बीमारी को समय रहते जानकर उसका इलाज कर सकते हैं। आज हम आपको इसी बारे में बताने वाले हैं कि आंखों, बालों और स्किन में होने वाले बदलाव किन बीमारियों के संकेत हैं। आइए जानते हैं –

1. आंखों में बदलाव – आंखों के रंग-रूप से आपकी सेहत के बारे में बहुत कुछ पता लगाया जा सकता है। कुछ ऐसे संकेत हैं जिन्हें अगर आप पहचान लें तो समय रहते बीमारी का पता लगातर उचित इलाज कर सकते हैं। आइए, जानते हैं कि वे संकेत क्या हैं –

Loading...

लाल धब्बे – लाल आंखें अक्सर कम नींद लेने या थकान का लक्षण हो सकती हैं। लेकिन अगर आपकी आंखों में गहरे लाल धब्बे दिख रहे हैं तो इसका मतलब है कि आप डायबिटीज से ग्रस्त हैं। डायबिटीज में ब्लड शुगर तेजी से बढ़ता है जिससे आंखों की नसों में सूजन आ जाता है या वो फट जाती हैं। इससे आंखों में लाल धब्बे हो जाते हैं।

loading...

सफेद छल्ले – आंखों में आइरिश के चारों ओर सफेद छल्ले हाई कोलेस्ट्रॉल की ओर इशारा करते हैं। इसके अलावा यह स्ट्रोक और हार्ट अटैक का भी संकेत हो सकता है।

आंखों में दर्द – ट्यूमर, ऐन्यरिज़म, या इन्फेक्शन आंखों में दर्द की वजह हो सकती है। ऐसे में तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।

सूखी आंखें – बहुत ज्यादा सिगरेच पीने की वजह से आंखों में सूखापन आ जाता है। इसके अलावा यह थायराइड का भी लक्षण हो सकता है। अगर नियमित अंतराल पर आपकी आंखों में सूखापन आता है तो आपको डॉक्टर से मिलने की जरूरत है।

आंखों का फड़कना – अगर आपकी आंखें लगातार फड़क रही हैं तो जरूरी है कि कुछ देर के लिए इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस का इस्तेमाल बंद कर दें। अगर फिर भी फड़कन नहीं जाती तो यह किसी न्यूरोलॉजिकल समस्या का संकेत हो सकती है।

रतौंधी – बहुत कम उम्र में रतौंधी का होना इस बात का संकेत है कि आपके अंदर विटामिन ए की भारी कमी है। ऐसे में आपको गाजर, पालक जैसे विटामिन ए से भरपूर फूड्स का सेवन करना चाहिए।

2. बालों में बदलाव – आपके बालों की स्थिति भी कई बीमारियों की ओर इंगित करती है। आइए जानते हैं कैसे –

पतली भौंहें – हाइपरथायरॉइड में बाल तेजी से झड़ने लगते हैं। इसका प्रभाव आपकी भौहों पर ज्यादा दिखता है। ऐसे में अगर आपकी भौहों के बाल काफी झड़ रहे हैं तो इसके लिए आपके थायरॉइड हार्मोन जिम्मेदार हो सकते हैं।

बालों का तेज बढ़ना – महिलाओं में एक्सेस हेयर ग्रोथ शरीर में ज्यादा टेस्टोस्टेरॉन लेवल की वजह से हो सकता है। इससे निजात पाने के लिए उन्हें शुगर का सेवन कम कर देना चाहिए।

पतले बाल – बालों का पतले होकर टूटना शरीर में पोषक तत्वों की ओर संकेत करता है।

बाल टूटना – कंघी करते वक्त बालों का ज्यादा मात्रा में झड़ना शरीर में आयरन की कमी का संकेत है।

3. त्वचा में बदलाव – शरीर का सबसे बड़ा अंग हमारी त्वचा होती है। आपकी त्वचा में होने वाले बदलाव भी आपके सेहत की स्थिति स्पष्ट करते हैं। आइए, जानते हैं कैसे –

खुजली – तनाव की वजह से भी आपकी त्वचा में खुजली या हीव्स हो जाते हैं।

झुर्रियां – कम उम्र की महिलाओं में झुर्रियों का आना ओस्टियोपोरोसिस का लक्षण हो सकता है। इसके अलावा जिन अंगों का संपर्क सूरज की रोशनी से नहीं होता वहां झुर्रियां आने का मतलब है कि आप हाई ब्लड प्रेशर से पीड़ित हैं। इसके अलावा यह दिल की बीमारी का भी संकेतक है।

सूखे होंठ – सूखे होंठ शरीर में पानी की कमी की ओर इशारा करते हैं। इसके अलावा फटे होंठ यीस्ट इन्फेक्शन के लक्षण हो सकते हैं।

कमजोर नाखून – कमजोर नाखून शरीर में पोषक तत्वों की कमी की ओर इशारा करते हैं।

नाखूनों का रंग – अगर आपके नाखूनों का रंग बदल रहा है या फिर नाखून किनारे से उखड़ रहे हैं तो आपको किडनी या लीवर की बीमारी हो सकती है।

Loading...
loading...