Thursday , September 20 2018
Loading...
Breaking News

महिलाएं कर रही हैं डेटिंग एप्स का इस्तेमाल

 महिलाओं पर किए गए एक स्टडी में ये खुलासा हुआ है कि टिंडर और दूसरी एप्स का इस्तेमाल सबसे ज्यादा महिलाओं द्वारा किया जा रहा है. जिसमें महिलाएं खुद को आकर्षित और पुरूषों के साथ कैजुअल सेक्स तो वहीं शॉर्ट टर्म रिलेशनशिप के लिए ऐसे एप्स का इस्तेमाल कर रही हैं. नॉर्वे यूनिवर्सिटी ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी के एसोसिएट प्रोफेसर मॉन्स बेनडिक्सन ने ये खुलासा किया है कि दूसरे यूजर्स द्वारा अगर खुद को संभावित पार्टनर के रूप में माना जाए तो वो पॉजिटिव है.

महिलाएं कर रही है ज्यादा डेटिंग एप्स का इस्तेमाल

Loading...

यूनिवर्सिटी के क्लिनिकल साइकोलॉजिस्ट और लेखक अर्नस्ट ओलाव बोटनन ने कहा कि पुरूषों में कैजुअल सेक्स और शॉर्ट टर्म रिलेशनशिप को लेकर जो बढ़ावा देखा गया वो डेटिंग एप्स की वजह से ही आया है. उन्होंने आगे कहा कि पुरूष इन एप्स का इस्तेमाल शॉर्ट टर्म रिलेशन की बजाए लॉंग टर्म पार्टनर्स के लिए भी करते है.

loading...

आपको बता दें कि पुरूषों के मुकाबले महिलाएं इन डेटिंग एप्स पर ज्यादा समय बीताती हैं. ऐसा इसलिए होता है क्योंकि महिलाएं किसी पुरूष को चुनने के लिए ज्यादा समय लेती हैं. हालांकि किस पुरूष को कैसे और कब चुनना है ये उनपर ही निर्भर करता है.

महिलाओं का चुनाव करने में पुरूष लेते हैं कम समय

वहीं इस मामले में पुरूष महिलाओं से काफी आगे हैं. क्योंकि पुरूष एक तरफ जहां कम समय में अपने पार्टनर का चुनाव कर लेते हैं तो वहीं इस चीज का भी निर्णय ले लेते हैं कि उन्हें कौन सी महिलाओं से मिलना चाहिए और किससे नहीं.

महिलाएं एक तरफ जहां ज्यादा समझदार होती हैं तो वहीं पुरूष ज्यादा उत्सुक. महिलाएं जहां लो क्वालिटी सेक्सुअल पार्टनर्स के साथ जाकर ज्यादा कुछ खोती हैं तो वहीं पुरूष कम. इसलिए पुरूष, महिलाओं के मुकाबले राइट स्वाइप ज्यादा करते हैं. इसका खुलासा NTNU के प्रोफेसर लीफ एडवर्ड ने किया है.
इस रिपोर्ट का खुलासा 641 नोर्वे यूनिवर्सिटी के छात्रों पर शोध कर किया गया है जिनकी उम्र 19 साल से लेकर 29 साल के बीच थी.

आपको बता दें कि ऐसे एप्स टेक्नॉल्जी शॉर्ट टर्म सेक्स के लिए एक अखाड़ा है जो लोगों के सेक्सुअल व्यवहार में धीरे धीरे बदलाव ला रहा है.

Loading...
loading...