Tuesday , September 25 2018
Loading...

स्कूटर शेयरिंग कंपनी ‘वोगो’ में अब होगी ओला की भी भागीदारी

बंगलुरू स्थित स्कूटर शेयरिंग कंपनी वोगो ने घोषणा की है कि कंपनी को कुछ पूंजीपतियों और व्यक्तिगत निवेशकों के अलावा ओला कैब्स के एएनआई टेक्नोलॉजीस और हीरो मोटोकॉर्प की ओर से भी फंड मिला है।

वोगो कंपनी डॉकलेस स्कूटर किराये पर देने की सुविधा प्रदान करती है। वोगो एप की खास बात यह है कि यह बिना किसी डॉकिंग स्टेशन के काम करता है। इस सुविधा को स्वचालित बनाने के लिए वोगो ने स्कूटर को ओटीपी (वन टाइम पासवर्ड) से लैस किया गया है। साथ ही इसमें आईओटी सेंसर भी दिया गया है। इस सेंसर के जरिए लोगों को स्कूटर की चाबी वाले स्टेशन के बारे में जानकारी मिलती है।

वर्तमान में यह सेवा केवल हैदराबाद और बंगलुरू में उपलब्ध है और आने वाले वर्षों में वोगो इन शहरों में ही 1,000 से अधिक पिकअप प्वाइंट जोड़ने की योजना बना रहा है।

Loading...

ओला और हीरो मोटोकॉर्प के मैनेजिंग डायरेक्टर पवन मुंजाल के अलावा, स्टालेरिस वेंचर पार्टनर्स और मैट्रिक्स पार्टनर्स इंडिया ने भी वोगो में निवेश किया है। टैक्सीफॉरसुर के राधाकृष्ण, ब्लैकबक के राजेश और गुडबॉक्स के संस्थापक मयंक बिदावतका जैसे कुछ लोगों ने भी वोगो में निवेश किया है।

loading...

वोगो के संस्थापक और सीईओ आनंन्द अय्यादुराई ने कहा, ‘हमारे सीरीज ए फंडिंग दौर की सफलता हमारे निवेशकों का विश्वास दर्शाती है। ओला के साथ हमारी यह साझेदारी काफी अहम है।

आनंन्द अय्यादुराई के अनुसार कंपनी का मकसद वोगो स्कूटर को हर उस गली-नुक्कड़ तक पहुंचाना है जो रोजाना वाहनों के जाम, प्रदूषण जैसी समस्याओं से ग्रसित है। वोगो कंपनी का एवरेज ट्रिप लगभग 5 किलोमीटर तक का होता है। कंपनी के शुरुआती दिनों से अब तक 27,000 लोग इस एप से जुड़े हुए हैं जो कि 6 मिलियन किलोमीटर तक का सफर तय कर चुके हैं।

Loading...
loading...