Saturday , September 22 2018
Loading...
Breaking News

कार ने ली बहन भाई की जान

फेज-10/11 की डिवाइडिंग रोड पर सोमवार सुबह सैर पर निकले भाई बहन को एक तेज रफ्तार होंडा सिटी ने रौंद डाला। कार की टक्कर के बाद दोनों कई फुट उछलकर कार के बोनट पर गिरकर गंभीर रूप में घायल हो गए। दोनों को गंभीर हालत में सेक्टर-32 जीएमसीएच ले जाया गया। वहां डॉक्टरों ने दोनों को मृत घोषित कर दिया।

मृतकों की पहचान अमनदीप सिंह (37) और उसकी बहन इंद्रजीत कौर उर्फ प्रीत (40) के रूप में हुई है। दोनों फेज-11 के रहने वाले हैं। अमनदीप सिंह की पत्नी जसविन्द्र कौर का हादसे में बचाव हो गया। वहीं कार वाला मौके से फरार हो गया। हालांकि कुछ दूरी के बाद कार खराब हो गई और लोगों ने पीछा कर उसे दबोचा लिया। पुलिस ने कार चालक रणजीत सिंह निवासी जिला मुक्तसर खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। दोनों लाशों का पोस्टमार्टम करवाकर उन्हें परिजनों को सौंप दिया गया। हालांकि आरोपी के बारे में चर्चा है कि वह पंजाबी सिंगर व लेखक है। एसएचओ गुरप्रीत सिंह बैंस ने कहा कि आरोपी को पकड़ लिया है। वह बेरोजगार है।

Loading...

बॉक्स
फुटपाथ पर चलते परिवार को लिया हादसे में
हादसे में बची मृतक अमनदीप की पत्नी जसविन्द्र कौर निवासी मकान नंबर 2679 फेज-11 ने बताया कि सुबह 5 बजे के करीब वह अपने पति अमनदीप सिंह व ननद इंद्रजीत कौर के साथ सैर करके घर आ रहे थे। फेज-10/11 की लाइटों के नजदीक वे घर की ओर जाने के लिए सड़क पार करने लगे। जसविन्द्र कौर ने बताया कि वह आगे आगे चल रही थी जबकि उसका पति व ननद पीछे पीछे आ रहे थे। अचानक एक तेज रफ्तार कार ने उसके पति व ननद को टक्कर मार दी।

loading...

बॉक्स
चंडीगढ़ नंबर की थी कार
शिकायतकर्ता ने कार का नंबर नोट करके पुलिस को दे दिया। कार चंडीगढ़ नंबर की है। पुलिस ने कार चालक को गिरफ्तार कर लिया और कार को कब्जे में ले लिया है।

बॉक्स
‘टाइम से आई होती एंबुलेंस तो बच जाती जानें’
मौके पर मौजूद लोगों के मुताबिक वे पुलिस कंट्रोल रूम पर फोन करते रहे लेकिन कोई जवाब नहीं दे रहा था। 108 एंबुलेेंस भी करीब पौने घंटे के बाद पहुंची। लोगों का कहना है कि एंबुलेंस समय से आ जाती तो दोनों को बचाव हो जाता ।

बॉक्स
बहन के पति की पहले ही हो चुकी है मौत
पुलिस के मुताबिक मृतक इंद्रजीत कौर अपने भाई के घर पर ही रह रही थी। कुछ समय पहले इंद्रजीत कौर का पति खरड़ मार्केट में सामान लेने गया था। जहां उसे हार्ट अटैक आ गया था। इसी दौरान उसकी मौत हो गई थी। मृतका इंद्रजीत कौर का एक बेटा और एक बेटी है। दोनों 13 और 15 साल के हैं। जबकि अमनदीप का एक साल का बेटा है।

बॉक्स
बहन टीचर व भाई इंजीनियर था
मृतक अमनदीप जहां मोहाली की एक नामी कंस्ट्रक्शन कंपनी में इंजीनियर थे वहीं उसकी बहन खरड़ स्थित एक प्राइवेट स्कूल में टीचर थीं।

बॉक्स
पहले भी हो चुके हैं इस तरह के हादसे
यह पहला मौका नहीं है, इस तरह के हादसे पहले भी हो चुके हैं। कुछ समय पहले कुराली में सैर कर रहे व्यक्ति को तेज रफ्तार वाहन ने रौंद डाला था। दूसरी तरफ कुछ दिन पहले एक क्रूज कार ने बाइक सवार तीन लोगों को रौंद डाला था। इससे तीनों की मौत हो गई थी। इसी तरह मुल्लांपुर में भी एक तेज रफ्तार कार ने दो चचेरे भाइयों को रौंद डाला था।

Loading...
loading...