X
    Categories: क्राइम

अकाली-कांग्रेस कार्यकर्ताओं के बीच हाथापाई

पंजाब के गुरदासपुर में एसडीएम कार्यालय के बाहर उस समय हंगामा मच गया जब कांग्रेस के एक नेता ने गांव जीवनवाल बब्बरी के उम्मीदवार के नामांकन पत्रों में गवाह के रूप में उपस्थित सरपंच सुरजीत कुमार को थप्पड़ मार दिया। इसके बाद अकाली-कांग्रेसियों के बीच हाथापाई हो गई । कांग्रेस और अकाली वर्करों ने एक-दूसरे को गालियां देनी शुरू कर दी।

इसके बाद तलवारें लहराईं गईं और एक-दूसरे पर ईंट-पत्थर फेंके गए। इस दौरान कई लोगों की पगड़ी भी उतर गई। सूचना मिलते ही एसपी (हेड) वरिंद्र सिंह, एसपी (डी) हरविंद्र सिंह, डीएसपी देव दत्त पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे और हालात को नियंत्रित किया।

सुरजीत कुमार ने उनके साथ मारपीट की जानकारी अकाली दल के जिला प्रधान गुरबचन सिंह बब्बेहाली को दी। वह तुरंत वर्करों के साथ मौके पर पहुंचे। वहीं कांग्रेसी नेता मनप्रीत सिंह ने भी स्थानीय विधायक के भाई को फोन किया। इसके बाद बलजीत सिंह पाहड़ा भी कांग्रेसी वर्करों समेत एसडीएम कार्यालय के बाहर पहुंच गए। कांग्रेसी नेता ने आरोप लगाए कि वर्कर कार्यालय में कागज चेक करवाने पहुंचे थे। इसी दौरान उन्हें पता लगा कि अकाली-कांग्रेसियों के साथ धक्का कर रहे हैं। मारपीट भी की गई है।

Loading...

वह कार्यालय पहुंचे तो अकाली दल जिला प्रधान गुरबचन सिंह बब्बेहाली, अमरजोत सिंह बब्बेहाली वहां तलवारें लहराते हुए आए और कांग्रेसियों के साथ मारपीट की।       वहीं दूसरी तरफ जिला प्रधान गुरबचन सिंह बब्बेहाली ने कांग्रेसी वर्करों पर आरोप लगाते हुए कहा कि सरपंच सुरजीत सिंह के साथ मनप्रीत सिंह जीवनवाल ने थप्पड़ मारा था। जब वह वहां पहुंचे तो बलजीत पाहड़ा वहां अपने साथियों सहित पहुंच गए और मारपीट शुरू कर दी।

loading...

बब्बेहाली ने कहा कि कांग्रेस पार्टी ने कई लोगों के नामांकन रद्द करवाए हैं। यहां तक कि कलानौर में किसी भी अकाली का कागज तक दाखिल नहीं होने दिया। खबर लिखे जाने तक किसी भी दल ने पुलिस में शिकायत दर्ज नहीं की थी। एसएसपी स्वर्णदीप सिंह का कहना है कि उन्हें फिलहाल कोई शिकायत नहीं मिली है। मौके पर मौजूद पुलिसकर्मी के बयान पर मामला दर्ज किया जाएगा।

Loading...
News Room :

Comments are closed.