Saturday , September 22 2018
Loading...
Breaking News

गृह प्रवेश कर रहे थे कि हो गया कुछ ऐसा

पूरा परिवार गृह प्रवेश की तैयारी में जुटा हुआ था। लेकिन नए घर की खुशी में ऐसा ग्रहण लगा कि परिवार में सन्नाटा पसर गया। घर का इकलौता चिराग ही बुझ गया। घटना पंजाब के लुधियाना की है। यहां, किराए के मकान को छोड़ कर खुशी-खुशी अपने घर में जाना महेश शर्मा के परिवार को कभी न भूलने वाला गम दे गया। गृहप्रवेश के मुहूर्त पर महेश के घर का चिराग ही बुझ गया।

घर के ऊपर से गुजरी हाइटेंशन लाइन के तार ने महेश शर्मा के 25 वर्ष के बेटे देव शर्मा को अपनी तरफ खींच लिया। इससे उसे बिजली का जोरदार झटका लगा और उसकी मौके पर ही मौत हो गई। महेश शर्मा का कहना है कि वह सीधे तौर पर कालोनाइजर की लापरवाही है, जिसने नीचे लटक रहे तार ठीक नहीं कराए और हादसा हो गया। सोमवार को देव शर्मा के शव का पोस्टमार्टम हुआ।

महेश शर्मा ने बताया कि वह इलेक्ट्रिशियन का काम करता है। बीमार रहने के कारण वह अधिकांश समय घर पर ही रहता है। उसके दो बेटियां और एक बेटा। बड़ी बेटी देवकी 15 और छोटी कुमकुम 12 वर्ष की। बेटा देव शर्मा सबसे बड़ा था। देव शर्मा फोकल प्वाइंट स्थित एक फैक्टरी में जॉब कर रहा था। उसी के सहारे घर का सारा खर्च चल रहा था। महेश शर्मा का कहना है कि बेटे देव ने किसी तरह किश्तों पर जसपाल बांगड़ स्थित श्री राम कालोनी में एक छोटा प्लाट लिया और बाद में बनवाया। वह कुछ समय पहले ही नए घर में शिफ्ट थे। उन्होंने गृहप्रवेश का मुहूर्त 9 सितंबर का रखा था।

महेश शर्मा का कहना है कि 9 सितंबर को मुहूर्त वाले दिन वह सब घर पर थे। देव शर्मा अपने दोस्तों और रिश्तेदारों को कॉल कर रहा था। इस दौरान वह मोबाइल पर बात करते हुए छत पर चला गया था। छत के फ्रंट साइड से 11 केवीए की लाइन गुजर रही है। कुछ तार पर प्लास्टिक की पाइप चढ़ाई हुई है।  कुछ खुली है।  मोबाइल पर बात करते समय देव का सिर तार से छू गया। करंट का झटका खाकर देव नीचे गिरा। नीचे एक तार घर के मीटर की तरफ जा रही थी। उस तार में भी जोड़ था। नीचे गिरने पर जोड़ से भी देव को करंट लगा और उसकी मौके पर ही मौत हो गई।

Loading...
Loading...
loading...