X
    Categories: राष्ट्रीय

‘भारत बंद’ कर विपक्ष ने मोदी सरकार को घेरा

पेट्रोल-डीजल की कीमतों में लगी महंगाई की आग से भड़की कांग्रेस ने आज भारत बंद का आह्वान किया जिसका जगह-जगह असर दिखाई दिया। कांग्रेस ने अपने साथ सभी विपक्षी दलों को साथ आने की अपील की थी। भारत बंद का मुख्य आयोजन सुबह 10 बजे से दोपहर तीन बजे तक आयोजित किया गया। विपक्ष से समाजवादी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी, राष्ट्रीय जनता दल, झारखण्ड मुक्ति मोर्चा और नेशनलिस्ट कांग्रेस पार्टी ने कांग्रेस के भारत बंद में साथ दिया। वहीं पश्चिम बंगाल के प्रमुख दल तृणमूल कांग्रेस ने भारत बंद का समर्थन नहीं किया लेकिन महंगाई के खिलाफ प्रदर्शन यहां भी हुआ। इस दौरान बंगाल में बंग्लाश्री बस सेवा ने अपना बस किराया भी सस्ता किया। वामपंथी दलों ने कांग्रेस के बंद से अलग अपने भारत बंद के कार्यक्रम को बुलाया। उधर आंध्र प्रदेश ने अपने राज्य में पेट्रोल-डीजल सस्ता भी किया है।

उधर, जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और नेशनल कॉन्फ्रेंस के प्रमुख फारूक अब्दुल्ला ने कहा है कि ‘जो लोग 2012 में पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों पर उस समय की सरकार की आलोचना करते थे आज वह चुप हैं। तेल की कीमतें लगातार बढ़ रही है। रुपया डॉलर के मुकाबले कमजोर हो गया है। हम मुसीबत में हैं।’ तो आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडु ने अपने राज्य में पेट्रोल और डीजल के दामों में दो रुपये की कटौती की है। नए दामों के साथ राज्यभर में कल सुबह से पेट्रोल और डीजल मिलना शुरू हो जाएगा।

भारत बंद पर राजस्थान के मंत्री राजकुमार रिनवा का कहना है कि ‘वर्ल्ड मार्केट में जो क्रूड ऑइल होता है उस हिसाब से चलता है, सरकार कोशिश कर रही है। इतने खर्चे हैं, बाढ़ है चारों तरफ, इतनी खपत है। जनता समझती नहीं है कि क्रूड ऑइल का दाम बढ़ गया तो कुछ खर्चे कम कर दें।’ भारत बंद के दौरान केरल में बड़ी तादाद में लोग थमपनूर रेलवे स्टेशन पर फंस गये। इनमें महिलायें और बुजुर्ग भी शामिल रहे।

Loading...
कुछ स्थानों से निजी और सरकारी वाहनों पर हमले की छिटपुट घटनाओं की भी खबरे हैं। वाम शासित केरल में वाहन सड़कों से नदारद रहे और दुकानें एवं कारोबारी संस्थान बंद रहे। राज्य में 12 घंटे का बंद बुलाया गया। माकपा की अगुवाई वाले सत्तासीन वाममोर्चा और कांग्रेस के नेतृत्व वाले विपक्षी एकीकृत लोकतांत्रिक मोर्चा ने बंद का समर्थन किया है।

सरकारी दफ्तरों में उपस्थिति बहुत कम रही है। बस टर्मिनलों और रेलवे स्टेशनों पर यात्री फंसे रहे। सुबह जो दुकानें खुलीं उन्हें बाद में बंद समर्थकों ने बंद करा दिया। वैसे बाढ़ राहत कार्यों, अनिवार्य सेवाओं, पर्यटन उद्योग, बीमार व्यक्तियों की आवाजाही को बंद के दायरे से मुक्त रखा गया है।

कर्नाटक में भी सामान्य जनजीवन पटरी से उतर गया जहां कांग्रेस-जदएस सत्ता में है। शहर में सड़कें सूनसान रहीं क्योंकि सरकारी बसें, निजी टैक्सियां और ज्यादातर ऑटोरिक्शा नहीं चले। दुकानें और मॉल बंद रहे क्योंकि कांग्रेस, जदएस और वामदलों के सैंकड़ों कार्यकर्ता बंद लागू करने के लिए सड़कों पर उतर गये थे। मेंगलुरु में बंद समर्थकों ने बंद लागू करने के लिए दुकानों पर पथराव किया।

तुमाकुरु, रामनगर, मांड्या, चन्नापटना, हसन, मेंगलुरु, चामराजगर, मैसुरु, हुब्बली, बीदर और कोलार समेत राज्य के विभिन्न हिस्सों से बंद के सफल रहने की रिपोर्ट है। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष येदियुरप्पा ने कहा, ‘‘लोगों को मुश्किल में डालने की गलत मंशा से बंद बुलाया गया है। बंद से केवल लूटपाट करने वालों को फायदा हो रहा है। लोगों को पता है कि क्या हो रहा है। कर्नाटक छोड़कर देश में कहीं भी यह सफल नहीं है। यहां कांग्रेस एवं जदएस की साजिश है।’’

तमिलनाडु में सामान्य जनजीवन बंद से कमोबेश अप्रभावित रहा। शैक्षणिक संस्थान, सरकारी एवं निजी कार्यालय, वाणिज्य प्रतिष्ठान आराम से चलते रहे। आंध्रप्रदेश में विपक्षी कार्यकर्ता हिरासत में लिये गये। सत्तारुढ़ तेदेपा ने भी अलग से प्रदर्शन किया। मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने ईंधन के दामों में बार बार वृद्धि करने की आलोचना की। पुडुचेरी में बंद का बहुत बुरा असर रहा। दुकानें एवं कारोबारी परिसर बंद रहे।

वहीं, तेलंगाना में आरटीसी के बस स्टेशन के सामने धरना दे रहे अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी (एआईसीसी) के सचिव श्रीनिवासन कृष्णन एवं 40 अन्य को एहतियातन हिरासत में लिया। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पेट्रोलियम पदार्थों की बढ़ती कीमतों के विरोध में कांग्रेस की ओर से बुलाये गए ‘भारत बंद‘ को विपक्ष की हताशा का नतीजा करार देते हुए कहा कि उससे इससे ज्यादा की उम्मीद भी नहीं की जा सकती।

शिवसेना ने सोमवार को विपक्षी दलों पर तंज कसते हुए कहा कि पेट्रोलियम उत्पादों की बढ़ती कीमतों में इजाफे के खिलाफ बुलाया गया राष्ट्रव्यापी बंद लंबी नींद से हाल में जागे लोगों का अचानक उठाया गया कदम नहीं लगाना चाहिए। कांग्रेस द्वारा आहूत ‘भारत बंद‘ के बारे में पूछे जाने पर अखिलेश यादव ने कहा ‘‘ऐसे में जब विपक्ष विरोध कर रहा है, आज सुबह भी पेट्रोल और डीजल के दामों में कुछ पैसों की बढ़ोतरी कर दी गयी। महंगाई को लेकर मोदी सरकार का रवैया देखकर आम आदमी के प्रति उसकी संवेदनहीनता जाहिर होती है।‘‘

भारत बंद पर केंद्रीय मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने कहा कि प्रदर्शन करने का अधिकार सभी को है लेकिन आज ये क्या हो रहा है? पेट्रोल पंप और बसों को जलाया जा रहा है, लोगों की जान को खतरे में डाला गया है। बिहार के जहानाबाद में भी एंबुलेंस रोकने के कारण एक बच्चे की मौत हो गई है। इसके लिए कौन जिम्मेदार है। भारत बंद के दौरान कांग्रेस नेता और 1984 दंगों में आरोपी सज्जन कुमार भी प्रदर्शन करते दिखे।

मार्क्सवादी पार्टी के नेता सीताराम येचुरी, डी राजा और आप नेता आतिशी ने भी भारत बंद के दौरान दिल्ली में विरोध प्रदर्शन किया। दिल्ली के प्रीत विहार में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने बैलगाड़ी पर मोटरसाइकिल रख प्रदर्शन किया। भारत बंद के दौरान एकजुट दिखा विपक्ष। सभी विपक्षी पार्टी के नेताओं ने मंच पर एक दूसरे का हाथ पकड़ा।

उधर, बिहार के जहानाबाद में समय पर इलाज नहीं मिल पाने के कारण एक बच्ची की मौत हो गई है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, भारत बंद के कारण वाहन नहीं मिल पाए जिसके कारण बच्ची को समय से अस्पताल नहीं पहुंचाया जा सका। जिसके कारण उसकी मौत हो गई। केंद्रीय मंत्री मुक्तार अब्बास नकवी ने कहा है कि भारत कभी बंद नहीं हो सकता, इसका आगे बढ़ना और उन्नति करना जारी रहेगा। कोई भी कांग्रेस के बुलावे पर ध्यान नहीं दे रहा है, उनका महागठंधन का गुब्बारा जल्द ही फूटेगा।

रामलीला मैदान पर भाषण देते हुए राहुल ने मोदी सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि मोदी पेट्रोल डीजल पर हमेशा चुप क्यों रहते हैं। उन्होंने पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दामों पर एक शब्द नहीं कहा। न ही किसानों पर उन्होंने कुछ कहा और न ही महिलाओं के खिलाफ हो रही हिंसा पर वह बोले। राहुल ने आगे कहा आज पूरा विपक्ष यहां एक साथ बैठा है। हम सब मिलकर एक साथ, भाजपा को हटाने का काम करेंगे।

मध्यप्रदेश के उज्जैन में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने एक पेट्रोल पंप प्रदर्शन करते हुए उपद्रव मचाया। मुंबई के परेल में एमएनएस कार्यकर्ताओं ने जबरन दुकानें बंद करवाईं। पटना में लोकतांत्रिक जनता दल के कार्यकर्ताओं ने अपने कंधों पर मोटरसाइकिल रखते हुए तेल की बढ़ती कीमतों के खिलाफ प्रदर्शन किया। पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा कि मोदी सरकार ने बहुत सी ऐसी चीजें की हैं जो राष्ट्र के हित में नहीं थीं। इस सरकार को बदलने का वक्त जल्दी आने वाला है।

जन अधिकार पार्टी के कार्यकर्ताओं ने वाहनों को नुकसान पहुंचाया। कई गाड़ियों के शीशे भी तोड़े। भारत बंद के चलते ईस्ट कोस्ट रेलवे जोन ने 12 ट्रेनें रद्द कर दी हैं। इनमें भुवनेश्वर-हावड़ा जन शाताब्दी एक्सप्रेस और भुवनेश्वर-विशाखापटनम इंटर सिटी एक्सप्रेस भी शामिल है। मुंबई में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने अंधेरी रेलवे स्टेशन पर ट्रेन रोकी। इस दौरान कांग्रेस के वरिष्ठ नेता संजय निरुपम के साथ पुलिस की धक्कामुक्की हुई। उसके बाद उन्हें हिरासत में ले लिया गया।

मध्यप्रदेश के उज्जैन दरगाह मंडी के पास कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने पेट्रोल पंप में तोड़फोड़ की। बताया जा रहा है कि इस दौरान पुलिसकर्मी को पीटा भी गया। छत्तीसगढ़ के रायपुर में भी पेट्रोल और डीजल के बढ़ते दामों के खिलाफ कांग्रेस के कार्यकर्ता प्रदर्शन कर रहे हैं। भारत बंद के चलते राजस्थान के जयपुर शहर में सुरक्षा कड़ी कर दी गई। सांसद पप्पू यादव के समर्थकों ने पटना में कई बसों में तोड़फोड़ की। यहां राजेंद्र नगर रेलवे टर्मिनल के बाहर बसों पर पत्थरों और लाठी से हमला किया गया। साथ ही बिहार के कई शहरों में हिंसा की खबरें आ रही है।

Loading...
News Room :

Comments are closed.