Sunday , September 23 2018
Loading...
Breaking News

भूकंप के बाद कहां आएंगे झटके बताएगा आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस

दुनियाभर के देशो में आने वाले भूकंप करोड़ों के नुकसान के साथ साथ कई लोगों की जान भी ले लेते हैं। चाहे कितने भी विकसित देश हों वह भूकंप के बाद की तबाही से जल्दी उबर जाते हैं लेकिन उससे होने वाले नुकसान को नहीं रोक पाते। हाल ही में जापान में आए भूकंप से भी 18 लोगों की जान जा चुकी है। साथ ही इंडोनेशिया में 6.4 तीव्रता के भूकंप के बाद चीन में भी 5.5 तीव्रता का भूकंप महसूस किया गया। इसी स्थिति को पहले से ज्यादा आसान करने के लिए एक आर्टिफिशल इंटेलिजेंस पर काम किया जा रहा है।

इस आर्टिफिशल इंटेलिजेंस पर हार्वर्ड यूनिवर्सिटी और गूगल के वैज्ञानिक काम कर रहे हैं। हालांकि इससे यह तो पता नहीं चल पाएगा कि भूकंप कब आएगा लेकिन इससे उसके बाद के हालातों के बारे में आसानी से पता चल जाएगा। सिस्टम पर काम कर रहे वैज्ञानिकों ने दुनियाभर के भूकंप के डाटाबेस का विश्लेषण किया और इसके जरिए अनुमान लगाया कि भूकंप के बाद झटके कहां आ सकते हैं।

इससे जुड़े वैज्ञानिकों का कहना है कि भूकंप के बाद की स्थिति के बारे में पता चलने से आपातकालीन सेवाओं को शुरू करने और मलबे आदि में फंसे लोगों को बचाने के लिए बेहतर योजना बनाई जा सकती है। इसके लिए दुनियाभर के 118 से ज्यादा भूकंपों की जानकारी एकत्रित की गई थी। अभी तक भूकंप के बाद के झटकों की टाइमिंग और साइज के बारे में ही पता चल सका है, उसके लोकेशन के बारे में पता लगाना अभी भी एक चुनौती बनी हुई है। आर्टिफिशल सिस्टम में भूकंप और उसके बाद के झटकों का डाटा खंगाला गया जिससे लोकेशन के बारे में पता करने की कोशिश की जा रही है।

Loading...

ये हैं दुनिया में आए सबसे बड़े भूकंप

चिली
दुनियाभर में आए सबसे बड़े भूकंपों में चिली का नाम आता है। यहां 22 मई साल 1960 में दुनिया का सबसे बड़ा भूकंप आया था। यह भूकंप 9.5 मैग्निट्यूड तीव्रता का था।

अमेरिका
28 मार्च, 1964 को अमेरिका में आया भूकंप भी बहुत भयानक था। यह 9.2 मैग्निट्यूड वाला भूकंप था। इस भूकंप से प्रिंस विलियम साउंड, अलास्का जैसे क्षेत्र काफी प्रभावित हुए थे।

loading...

इंडोनेशिया
इंडोनेशिया में 26 दिसंबर, 2004 को आया भूकंप दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा भूकंप माना जाता है। यहां 9.1 तीव्रता का भूकंप रिकॉर्ड किया गया था। जिसकी वजह से यहां सुनामी भी आ गई थी। इस सुनामी ने करीब 12 देशों को प्रभावित किया था।

रूस
4 नवंबर 1952 को रूस में 9 मैग्निट्यूड का भूकंप आया था। इसके कारण प्रशांत महासागर में सुनामी आ गई। इसी की वजह से जापान और अमेरिका के भी कई राज्यों में तबाही मच गई थी।

Loading...
loading...