Wednesday , September 19 2018
Loading...
Breaking News

चमोली में देर रात अतिवृष्टि का कहर

गुरुवार देर रात को उत्तराखंड के चमोली में अतिवृष्टि से काफी नुकसान हुआ है। घाट क्षेत्र के सगोन गांव में भूस्खलन और मलबा आने से कई जगह खेत तबाह हो गए। वहीं भूस्खलन से कई गौशालाएं भी दब गईं। दो दिन बाद खुला बदरीनाथ हाईवे मलबा आने से लामबगड़ में फिर बंद हो गया। नुकसान की सूचना पर राजस्व टीम मौके लिए रवाना हो गई है।
बता दें कि, मौसम विभाग के अनुसार आज ज्यादातर हिस्सों में बारिश का अनुमान है। वहीं दोपहर बाद कुछ क्षेत्रों में तेज बारिश भी हो सकती है। मौसम केंद्र निदेशक बिक्रम सिंह ने बताया कि फिलहाल हल्की बारिश का क्रम बना रहेगा। 24 घंटों के दौरान दो से तीन दौर की मध्यम बारिश हो सकती है। उन्होंने बताया कि नौ सितंबर को प्रदेश में भारी बारिश होने का अनुमान है।

बता दें कि,  लामबगड़ में मलबा और बोल्डर आने से मंगलवार शाम को बंद हुआ बदरीनाथ हाईवे गुरुवार को ही खोला गया था। हाईवे खुला तो 654 तीर्थयात्री बदरीनाथ धाम पहुंचे। इनमें से 132 तीर्थयात्री लामबगड़ में तीन किमी पैदल और फिर वाहनों से बदरीनाथ धाम पहुंचे, जबकि 642 तीर्थयात्री बदरीनाथ के दर्शन कर गंतव्य को लौटे।

हालांकि, गुरुवार सुबह मौसम साफ होने के बाद यात्री पैदल ही धाम के लिए आवाजाही कर रहे हैं। लेकिन, लामबगड़ में चट्टान साइड भारी मात्रा में मलबा और बोल्डर अटके हुए हैं और मौसम सामान्य रहने के बाद भी यहां मलबा और बोल्डर हाईवे पर आ रहे हैं। जिससे यहां खतरे के बीच ही यात्रा वाहनों की आवाजाही हो रही है।
Loading...
loading...