Sunday , September 23 2018
Loading...
Breaking News

दुश्मन पाक ने तैयार किए 150 से ज्यादा एटमी हथियार

दुनिया भर में परमाणु हथियारों का लेखा-जोखा रखने वाली एजेंसी फेडरेशन ऑफ अमेरिकन साइंटिस्ट (एफएएस) ने अपनी एक ताजा रिपोर्ट ने पाकिस्तान को लेकर एक बेहद चौंकाने वाला खुलासा किया है। इसके मुताबिक, पाक दुनिया का पांचवां शीर्ष परमाणु हथियारों वाला देश बनने की राह पर है। उसके पास फिलहाल 140 से 150 एटमी हथियार हैं और यदि यही गति रही तो 2025 तक पाक के पास 220 से 250 परमाणु हथियार और भंडार हो जाएंगे।  माना जा रहा है कि पाक का मकसद भारत के विरुद्ध परमाणु युद्ध की तैयारी हो सकती है।

एफएएस को पहले फेडरेशन ऑफ एटोमिक साइंटिस्ट नाम से भी जाना जाता था। एफएएस एजेंसी की रिपोर्ट के मुताबिक पाक बड़ी तेजी से परमाणु हथियार विकसित कर रहा है। इस मामले में वह भारत से आगे निकल चुका है। एम. क्रिस्टनसेन, रॉबर्ट एस. नोरिस और जूलिया डायमंड ने ‘पाकिस्तानी न्यूक्लियर फोर्सेस 2018’ नामक रिपोर्ट में कहा है कि अमेरिकी रक्षा खुफिया एजेंसी ने 1999 में पाक के पास 140 से 150 परमाणु हथियार होने का आंकलन करते हुए दावा किया था 2020 तक वह इसमें 60 से 80 परमाणु हथियारों का इजाफा कर लेगा।

एफएएस की हालिया रिपोर्ट बताती है कि इसी रफ्तार से चलने पर 2050 तक उसके पास 220 से 250 परमाणु हथियार हो जाएंगे। पाकिस्तानी परमाणु बल 2018 की रिपोर्ट के मुताबिक, ऐसा होने पर परमाणु हथियार के मामले में पाक दुनिया का पांचवां सबसे बड़ा देश बन जाएगा। रिपोर्ट के मुताबिक पाक लगातार परमाणु वितरण प्रणाली, डिलीवरी सिस्टम के साथ एटमी शस्त्रागार और मिसाइल सामग्री के उत्पादन उद्योग को बढ़ावा दे रहा है। वह परमाणु हथियारों से युक्त मिसाइलों के विकास पर भी ध्यान दे रहा है।

Loading...

इसलिए कर रहा है भारत के खिलाफ तैयारी

इस रिपोर्ट के मुताबिक पाक द्वारा जिन एटमी हथियारों का विकास किया जा रहा है उनमें कम दूरी की परमाणु हथियारों से युक्त मिसाइलें शामिल हैं। इन्हीं पर पाक का सबसे अधिक ध्यान केंद्रित है। इसी बात से माना जा रहा है कि पाकिस्तान मुख्यत: भारत के साथ परमाणु युद्ध की तैयारी कर रहा है।

पाक के सैन्य, वायुसेना ठिकानों का अध्ययन शामिल

loading...

एफएएस ने पाक सैन्य अड्डों और वायुसेना के ठिकानों के अध्ययन के आधार पर यह रिपोर्ट तैयार की है इसलिए इसकी विश्वसनीयता अधिक है। वार्षिक रूप से जारी होने वाली इस रिपोर्ट में उन तमाम स्रोतों का भी आकलन किया जाता है जिसके आधार पर दुनिया भर में परमाणु हथियारों की होड़ का पता चलता है

Loading...
loading...