Sunday , September 23 2018
Loading...
Breaking News

चेक पोस्ट पर जेब में रुपये डलते ही खोल दिए जाते हैं पुलिस के बैरियर

हरियाणा के अलावा वेस्ट यूपी के विभिन्न स्थानों पर गोवंश ओर मीट सप्लाई करने वाले गिरोह के सरगना ने पुलिस की पूछताछ में चौंकाने वाले खुलासे किए हैं। सरगना ने खुलासा किया है कि गोवंश को ले जाते समय चंद रुपये जेब में डलते ही हरियाणा, दिल्ली और यूपी के विभिन्न चेक पोस्ट के बैरियर खोल दिए जाते थे। पांच सौ से दो हजार रुपये तक चेक पोस्ट पर दिए जाते थे। हालांकि पुलिस अभी इसकी जांच करा रही है। यूपी के सहारनपुर में भी गिरोह के सरगना का मकान है।

हरियाणा के अलावा दिल्ली, यूपी के विभिन्न स्थानों पर गोवंश की तस्करी और मीट सप्लाई करने वाले गिरोह के दिल्ली निवासी सरगना फरीद को भी भिवानी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। पूर्व में पकड़े गए दोनों आरोपियों से भी पुलिस पूछताछ कर रही थी।
पुलिस सूत्रों के अनुसार गिरोह के सरगना फरीद और दो अन्य आरोपियों ने पूछताछ में कई खुलासे किए है। फरीद ने पुलिस की पूछताछ में बताया है कि वह गिरोह मे ंहरियाणा के अलावा दिल्ली, यूपी के उन युवकों को जोड़ रहा था, जो बेरोजगार होते हैं। उन्हें एक माह में 30 से 40 हजार रुपये दिए जाते थे। गोवंश और मांस को दिल्ली, यूपी के बागपत, सहारनपुर, मुजफ्फरनगर, बिजनौर, मेरठ ले जाते समय गिरोह के सदस्यों की पुलिस से भी सेटिंग होती थी। यदि पुलिस चेक पोस्ट पर गोवंश से भरे वाहनों को रोकती थी तो उन्हें पांच सौ से लेकर दो हजार रुपये तक दिए जाते थे। हालांकि पुलिस अभी यह खुलासा नहीं कर रही कि किन चेक पोस्ट पर गोवंश को ले जाने वाले गिरोह के सदस्यों से रुपये लिए जाते थे। पुलिस का कहना है कि गिरोह के सदस्यों से पूछताछ की जा रही है। एसआई भूषण का कहना है कि गिरोह के सदस्य का एक मकान यूपी के सहारनपुर में भी हे। वर्तमान में वह दिल्ली में रह रहा है। दावा किया कि जल्द ही गिरोह के अन्य सदस्यों को भी गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

Loading...

यह हुआ था मामला
तीन अगस्त को महम से सटी मुंढ़ाल पुलिस चौकी के निकलकर पुलिस के पास कंटेनर सवार गोवंश तस्करों ने गो रक्षा सेवा दल के कार्यकर्ताओं पर पकड़े जाने के डर से फायरिंग कर दी थी। किसी तरह दल के कार्यकर्ताओं ने भागकर जान बचाई थी। बाद में पुलिस ने यूपी के मुजफ्फरनगर निवासी तोमीस और पंजाब के मजीठा निवासी जय सिंह को गिरफ्तार कर लिया था। कंटेनर से 27 गोवंश बरामद किए गए थे, जिनमें से 10 गोवंश की मौत हो गई थी। गिरोह का सरगना दिल्ली निवासी फरीद फरार चल रहा था।

loading...

हरियाणा के किन-किन चेक पोस्ट पर गोवंश से भरे वाहनों को निकालने के बदले वसूली की जाती है। जांच कराकर कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। इसके अलावा गोवंश तस्करी पर अंकुश लगाने को दिल्ली और यूपी के अधिकारियों को भी पत्र भेजा जाएगा। किसी भी कीमत पर गोवंश की तस्करी नहीं होने दी जाएगी।

डेयरी खोलने के नाम पर चलती है गोवंश तस्करी
पुलिस के अनुसार फरीद ने दिल्ली के अलावा महम क्षेत्र और यूपी के सहारनपुर में कई डेयरियां खोली हुई हैं। डेयरी की आड़ में वह गोवंश तस्करी करता है। हरियाणा के बीस से अधिक लोग उसके संपर्क में हैं।

Loading...
loading...