Sunday , September 23 2018
Loading...
Breaking News

टीआरएस ने 105 सीटों पर जारी की प्रत्याशियों की सूची

तेलंगाना में चुनाव कराने के मुद्दे पर निर्वाचन आयोग के शुक्रवार को चर्चा करने की संभावना है। दरअसल, राज्य के मंत्रिमंडल ने विधानसभा भंग करने की सिफारिश की है। आयोग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि निर्वाचन आयोग हर मंगलवार और शुक्रवार को कई मुद्दों पर चर्चा करने के लिये बैठक करता है और अगली बैठक में इस दक्षिणी राज्य में चुनाव आयोजित करने का मुद्दा उठ सकता है।

अधिकारी ने बताया, ‘‘अंतिम निर्णय से पहले त्योहार, परीक्षाएं और मौसम की स्थिति जैसे मुद्दों पर चर्चा होगी।’’ गौरतलब है कि तेलंगाना विधानसभा का कार्यकाल जून 2019 तक था।

वहीं टीआरएस प्रमुख के चंद्रशेखर राव ने बृहस्पतिवार को कांग्रेस को तेलंगाना का सबसे बड़ा दुश्मन बताया है। तेलंगाना को अलग राज्य का दर्जा दिलाने के कांग्रेस के दावे पर राव ने कहा कि कांग्रेस तेलंगाना की सबसे बड़ी दुश्मन है। पहले जवाहर लाल नेहरू ने तेलंगाना से छल किया। 1 नवंबर 1956 में एकीकृत आंध्र प्रदेश का गठन करना तेलंगाना के लिए काला दिन था। इसके बाद इंदिरा गांधी ने तानाशाह की तरह व्यवहार किया। इसके साथ ही उन्होंने राज्य की मुख्य विपक्षी पार्टी कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी पर तीखा हमला बोलते हुए कहा कि राहुल देश के ‘सबसे बड़े मसखरे’ हैं, वह राज्य का जितना दौरा करेंगे टीआरएस चुनाव में उतना ही बेहतर प्रदर्शन करेगी।

Loading...

राज्य में संभावित चुनाव के बारे में राव ने कहा कि उन्होंने निजी तौर पर मुख्य चुनाव आयुक्त से बात की है। नवंबर में चार राज्यों के साथ ही तेलंगाना में चुनाव होंगे। अक्तूबर तक इसकी अधिसूचना जारी कर दी जाएगी।

loading...

जनता केसीआर को सबक सिखाएगी : रेड्डी 
कांग्रेस ने चंद्रशेखर राव के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि आने वाले चुनाव में जनता उन्हें सबक सिखाएगी। तेलंगाना प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष उत्तम कुमार रेड्डी ने कहा कि टीआरएस ने जनता से जो वादे किए थे, उन्हें पूरा नहीं किया। साथ ही उन्होंने राव पर चुनाव आयोग के साथ फिक्सिंग करने का भी आरोप लगाया। रेड्डी ने कहा कि विधानसभा भंग करने से पहले चुनाव आयोग की राव से क्या बात हुई। यह संदेह पैदा करता है क्योंकि एक सितंबर को ही आयोग ने वोटर लिस्ट में संशोधन करने का आदेश दिया था, जबकि यह प्रक्रिया जनवरी 2019 में की जाती।

‘टीआरएस से भाजपा का सीधा मुकाबला’

भाजपा प्रवक्ता और राज्यसभा सांसद जीवीएल नरसिम्हा राव ने बृहस्पतिवार को कहा कि आगामी विधानसभा चुनाव में भाजपा और टीआरएस के बीच सीधा मुकाबला होगा। उन्होंने कहा कि भाजपा ही टीआरएस के लिए मुख्य चुनौती होगी, क्योंकि जनता कांग्रेस को अस्वीकार कर चुकी है। भाजपा एकमात्र पार्टी है जिसके बाद शासन करने के लिए सकारात्मक एजेंडा है। तेलंगाना में त्रिकोणीय मुकाबला होता है तो निश्चिततौर पर भाजपा को इसका लाभ मिलेगा।
Loading...
loading...