Wednesday , September 19 2018
Loading...

केसीआर भंग कर सकते हैं तेलंगाना विधानसभा, जाने कैसे

ऐसी संभावना जताई जा रही है कि तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव गुरुवार को विधानसभा भंग करने की सिफारिश कर सकते हैं। जिससे समय से पहले विधानसभा चुनाव कराए जा सकें। इसके मद्देनजर टीआरएस सरकार के सभी मंत्रियों को हैदराबाद में मौजूद रहने और कैबिनेट बैठक में उपस्थित होने के लिए कहा गया है।

इससे पहले बुधवार को भी इस बात की अटकलें लगाई जा रही थी कि गुरुवार सुबह कैबिनेट की बैठक हो सकती है। लेकिन बुधवार देर रात तक अगले दिन होने वाली बैठक के समय को तय नहीं किया जा सका। ऐसी खबरें थी कि मंत्रियों को सुबह 6 बजे बैठक के लिए तैयार रहने को कहा गया। लेकिन मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक वरिष्ठ अधिकारियों ने बताया कि, ‘कैबिनेट बैठक प्रगति भवन में होगी साथ ही यह भी सुनिश्चित है कि यह सुबह 6 बजे या शाम को 6 बजे नहीं होगी।’

हालांकि सूत्रों की मानें तो बैठक के लिए 6 सितंबर गुरुवार के दिन को चुना जाना अहम है क्योंकि मुख्यमंत्री नंबर 6 को खुद के लिए भाग्यशाली मानते हैं। वहीं सरकारी में मौजूद सूत्रों का कहना है कि कैबिनेट बैठक का एकमात्र राजनीतिक एजेंडा विधानसभा भंग करने का प्रस्ताव है।

Loading...

सूत्रों की मानें तो सरकार पे रिविजन कमिशन की सिफारिशों के आधार पर राज्य सरकार के कर्मचारियों को 18-20 फीसदी की अंतरिम राहत प्रदान करने की घोषणा भी कर सकती है। सूत्रों का कहना है, ‘सभी विधायकों, विधान परिषद सदस्यों और अधिकारियों को गुरुवार सुबह 11 बजे मौजूद रहने को कहा गया है।’

loading...

अगर कुछ नेताओं की बातों पर भरोसा किया जाए तो दोपहर में कैबिनेट बैठक के बाद मुख्यमंत्री प्रगति भवन में मीडिया से रू-ब-रू होंगे। फिर वे विधानसभा भंग करने की सिफारिश के प्रस्ताव के साथ राजभवन में राज्यपाल ईएस एल नरसिम्हन से मिलेंगे।

इसके बाद मुख्यमंत्री पार्टी के विधायकों, सांसदों, विधान परिषद सदस्यों और अन्य लोगों को तेलंगाना भवन में संबोधित कर सकते हैं। फिलहाल दोपहर साढ़े तीन बजे इस बैठक के होने की संभावना है। सूत्रों के मुताबिक राज्यपाल संवैधानिक प्रावधानों के मुताबिक केसीआर को कार्यवाहक मुख्यमंत्री का दायित्व निभाने के लिए कह सकते हैं।

हालांकि ना तो तेलंगाना सरकार ने और ना ही टीआरएस पार्टी ने कैबिनेट बैठक या विधानसभा भंग करने के प्रस्ताव के बारे में कोई आधिकारिक घोषणा की है। टीआरएस के एक नेता ने कहा कि हमारे नेता और मुख्यमंत्री की राजनीतिक बुद्धिमता पर कोई सवाल खड़े नहीं कर सकता।

Loading...
loading...