X
    Categories: राष्ट्रीय

28 सितंबर को सर्जिकल स्ट्राइक डे मनाएगी सरकार

अगले साल होने वाले लोकसभा चुनावों को ध्यान में रखते हुए केंद्र सरकार ने कुछ ऐसे खास दिन मनाने पर विचार किया है जिसके तहत सरकार अपनी उपलब्धियां बता सकें। साथ ही मतदाताओं का ध्यान भी अपनी ओर आकर्षित कर सकें। इसी के तहत सरकार 28 सितंबर को ‘सर्जिकल स्ट्राइक डे’ मनाने का फैसला किया है। इस दिन भारत के उस बड़े कदम को पूरे दो साल हो जाएंगे जब भारतीय सेना ने पीओके की सीमा को पार कर पाकिस्तानी सेना के आतंकी कैंप को तबाह कर दिया था।

सर्जिकल स्ट्राइक डे वाले दिन सभी मंत्री और बीजेपी के सभी विधायक अपने-अपने निर्वाचन क्षेत्रों में कार्यक्रमों का आयोजन करेंगे। इसके तहत सेना के जवानों को सम्मानित किया जाएगा। मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक बीते हफ्ते कैबिनेट की बैठक में ये फैसले लिए गए। जिसके बाद इस दिन को मनाने का फैसला हुआ।

वहीं सरकार ने पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी के निधन के एक महीने बाद यह भी फैसला किया कि उनकी याद में 16 सितंबर को काव्याजंली दिवस मनाया जाएगा। काव्याजंली दिवस पर मंत्री और विधायक अपने-अपने निर्वाचन क्षेत्रों में कविता कार्यक्रमों का आयोजन करेंगे। जिसमें वाजपेयी द्वारा लिखी गई कविताएं पढ़ी जाएंगी।

Loading...

बता दें कि भारतीय सेना ने 28-29 सितंबर 2016 को पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर पर आतंकियों के खिलाफ सर्जिकल स्ट्राइक किया था। सेना ने इस स्ट्राइक से पाकिस्तान की सेना के उरी हमले का जवाब दिया। जो कि 18 सितंबर को हुआ और उसमें 19 भारतीय सैनिक शहीद हुए थे। इसके साथ ही 17 सितंबर से 25 सितंबर के बीच पिछड़े इलाकों में मेडिकल कैंप लगाए जाएंगे जिनमें लोगों को बीमारियों के प्रति जागरुक किया जाएगा। 17 सितंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का जन्मदिन आता है और 25 सितंबर को पंडित दीनदयान उपाध्याय का जन्मदिन।

loading...

सर्जिकल स्ट्राइक जैसे कार्यक्रमों से सरकार लोगों को ये बताएगी कि उनकी सरकार देश की सुरक्षा के लिए कुछ भी कर सकती है।  इससे युवाओं को देश के लिए लड़कर अपनी जान पर खेलने वाले जांबाजों को जानने का मौका मिलेगा जिनसे वे प्रेरणा ले सकते हैं।

Loading...
News Room :