Wednesday , November 14 2018
Loading...

गोल्ड मेडलिस्ट तेजिंदर पर टूटा दुखों का पहाड़

इंडोनेशिया के जकार्ता और पालेमबांग में संपन्न 18वें एशियाई खेल में गोल्ड मेडल जीतने वाले शॉट पुटर तेजिंदर पाल सिंह तूर पर सोमवार की शाम दुखों का पहाड़ टूट पड़ा। कुछ ही घंटों की बात थी, लेकिन शॉट पुटर तेजिंदर पाल सिंह तूर इस बार मार्क से चूक गए जबकि इस पल का उन्होंने कई वर्षों तक इंतजार किया था।

अपने जीवन का सबसे बड़ा उपहार लेकर भारत लौटे तूर सबसे पहले अपने बीमार पिता से मिलना चाहते थे, जो दो साल से कैंसर से ग्रसित हैं। तूर के पिता ने अपने बेटे के लिए कई समझौते किए हैं। मगर जब तूर दिल्ली से पंजाब के मोगा की तरफ सोमवार की शाम निकले, तो उन्हें एक ऐसी जानकारी मिली, जिससे वह बिखर गए।

Loading...

तूर के पिता करम सिंह का निधन हो गया है। तूर को पता था कि उनके पिता की हालत गंभीर है। इसलिए उन्होंने दिल्ली उतरते ही सड़क के रास्ते मोगा जाने का फैसला किया। मगर वह अपने गृहनगर से कुछ ही दूर थे कि उन्हें यह दर्दनाक खबर मिली। तूर अपने पिता की आखिरी ख्वाहिश पूरी नहीं कर सके। उनके पिता अपने बेटे द्वारा देश के लिए जीते गोल्ड मेडल को अपने हाथ में उठाना चाहते थे।

loading...
Loading...
loading...