Thursday , September 20 2018
Loading...

पाकिस्तान के सांसद ने कहा- भारत को घूस देने के लिए रोकी गई मदद

पाकिस्तान के सांसद मुशाहिद हुसैन का कहना है कि अमेरिका ने इस्लामाबाद को मिलने वाली गठबंधन समर्थन निधि (सीएसएफ) राशि को भारत को घूस देने की वजह से रद्द कर दिया है। यह निर्णय अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पॉम्पियो के पाकिस्तान दौरे को खोखला कर देगा। हुसैन विदेश मंत्रालयों की समिति का प्रतिनिधित्व करते हैं। उनका मानना है कि पाकिस्तान के खिलाफ अमेरिका का यह फैसला चीन के खिलाफ एक मोर्चे को मजबूत बनाने के लिए लिया गया है। चीन पाक का सदाबहार दोस्त है।

हुसैन ने ट्वीट कर कहा, ‘अमेरिका ने 300 मिलियन अमेरिकी डॉलर की गठबंधन समर्थन निधि (सीएसएफ) को रोक दिया है। यह भारत को दी जाने वाली घूस है क्योंकि वह पाकिस्तान के घनिष्ठ मित्र चीन के खिलाफ भारत के साथ मिलकर मोर्चा बनाना चाहता है। इससे पहले 500 मिलियन डॉलर की सीएसएफ को रोक दिया गया था। यह सब अमेरिका द्वारा पाकिस्तान का बकाया धन है, सहायता नहीं।’ पेंटागन ने जनवरी में पाकिस्तान को दी जाने वाले सीएसएफ फंड को रद्द कर दिया था और अब 300 मिलियन की सहायता राशि को खारिज कर दिया है।

Loading...

इसी बीच पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी का एक बयान आया है जिसमें उनका कहना है कि अमेरिका उन्हें ना मदद देती थी और ना ही सहायता। अमेरिका को उनका पैसा वापस करना था जो उसने नहीं किया। उन्होंने कहा, ‘अमेरिका द्वारा दी जाने वाली 300 मिलियन अमेरिकी डॉलर की राशि ना तो मदद थी और ना है। यह ना सहायता है और ना ही सहयोग। यह राशि हमारे सीएसएफ फंड के अंतर्गत आती थी। यह वह पैसा है जिसे पाकिस्तान ने अपने पास से खर्च किया है। यह उन्होंने हमें वापस करना था। यह हमारा पैसा है, हमने खर्च किया है। यह हमारे साझा उद्देश्य अमन, दहशतगर्दों के खिलाफ जंग की तरफ हमारा जो पैसा खर्च हुआ था, उसे उन्हें वापस करना था जो अभी तक नहीं किया है।’

loading...
Loading...
loading...