Tuesday , November 20 2018
Loading...

भारत ने रिफाइनर्स को दी ईरान से तेल मंगाने की मंजूरी

भारत ने अमेरिका द्वारा लगाए गए प्रतिबंधों के बावजूद रिफायनर्स को ईरान से तेल आयात करने की इजाजत दे दी है। इसके साथ ही सरकार ने बड़े तेल आयातकों जिनमें शिपिंग कॉर्प ऑफ इंडिया (एससीआई) भी शामिल है। इनसे वादा किया गया है कि यदि उन्हें नुुसकान होता है तो उसकी भरपाई की जाएगी। भारत भी अब चीन की तरह ईरान को तेल आवक बनाए रखने की कोशिश कर रहा है।

भारत ने ईरान से तेल आयात सेवा दोबारा शुरू करने के लिए कहा है। भारत ने नेशनल ईरानियन ट्रैंकर कंपनी (एनआईटीसी) का रुख किया और नुकसान की भरपाई करने का वादा भी किया। अब दो बड़े तेल निर्यातक देशों के इस कदम से ऐसा लग रहा है कि नवंबर तक ये वैश्विक तेल निर्यातक राष्ट्र तेल मार्केट से अलग नहीं होगा।

बता दें नवंबर के बाद से अमेरिका द्वारा ईरान पर लगाए गए प्रतिबंध लागू हो जाएंगे। अमेरिका ने साल 2015 की परमाणु डील रद्द होने के बाद जुलाई 2018 में ईरान पर व्यापारिक प्रतिबंद लगाए थे। इन प्रतिबंधों पर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा था कि इसके बाद दुनिया का कोई भी देश ईरान से तेल नहीं खरीदेगा।

Loading...

सरकार द्वारा किए गए वादे से तेल कंपनियों की चिंता दूर हो गई है। मामले पर एससीआई का कहना है कि हमारी स्थिति भी पश्चिमी देशों के शिपर्स जैसी ही है। हमारे पास अब बचाव का कोई रास्ता नहीं है। इस वजह से हम तेल के लिए ईरान का रुख नहीं कर सकते। ऐसे में भारत ने नेशनल ईरानियन ट्रैंकर कंपनी (एनआईटीसी) का रुख किया है। साथ ही नुकसान की भरपाई का वादा करते हुए ईरान से तेल आयात सेवा दोबारा शुरू करने के लिए कहा है।

loading...
Loading...
loading...