Friday , September 21 2018
Loading...
Breaking News

साठ साल के दादा ने पोते के लिए ब्रिज में जीता गोल्ड

उम्र साठ की हो और प्यार करने के लिए साल का पोता हो तो खेलों की बात दिमाग में नहीं उतरेगी, लेकिन एशियाई खेलों में साठ साल के दादा प्रणब बर्धन ने 56 साल के अपने जोड़ीदार शिबनाथ सरकार के साथ मिलकर पोते के लिए ब्रिज में गोल्ड जीत लिया है। प्रणब बड़े गर्व से कहते हैं कि यह खेल जुआ नहीं है।

यह दिमागी खेल है और यह गोल्ड पोते को समर्पित करते हैं। कंस्ट्रक्शन का बिजनेस करने वाले प्रणब कहते हैं कि अब वह शान से पोते को ब्रिज सिखाएंगे। जैसे यह खेल खेलने के लिए उन्होंने रोका-टोका जाता था अब पोते के लिए उन्हें ऐसा करने से कोई नहीं रोक पाएगा।

बीस साल पुरानी है यह जोड़ी 
जाधवपुर के प्रणब और हावड़ा के शिबनाथ ने मेंस पेयर फाइनल में 384 अंकों के साथ चीन (378) को पीछे छोड़ देश के लिए ब्रिज में पहला एशियाई खेलों का गोल्ड जीता। प्रणब और शिबनाथ की जोड़ी 20 साल पुरानी है। दोनों ने कभी नहीं सोचा था कि ब्रिज एशियाई खेलों में शामिल होगा और उन जैसे उम्रदराजों को घर में बैठने की उम्र में खेलने का मौका मिलेगा।

Loading...

प्रणब कहते हैं कि जब वह जकार्ता के लिए आ रहे थे तो कोलकाता में एक शख्स ने उनसे कहा कि आप वहां कुछ करके दिखा पाओगे या नहीं तब उन्होंने जवाब दिया था कि देखना मेडल लेकर आऊंगा। इस खेल में उम्र मायने नहीं रखती। जाधवपुर विश्वविद्यालय में अध्यापक शिबनाथ को इस बात का दुख है कि इस खेल को देश में जुआ समझा जाता है, लेकिन वह इससे इनकार करते हैं।

loading...

वह कहते हैं कि यह पूरी तरह गणित पर आधारित है। चेस में अकेले दिमाग से खेलना पड़ता है और यहां चार दिमागों से लड़ना पड़ता है। दोनों ने उम्मीद जताई कि ब्रिज को इस गोल्ड के बाद देश में कुछ सम्मान हासिल होगा।

टीम में 79 साल की चौकसी के अलावा मुरली देओड़ा, शिव नादर की पत्नी :  एशियाई खेलों के लिए ब्रिज की 24 सदस्यीय टीम चुनी गई। जिसमें सबसे उम्रदराज सदस्य अक्तूबर में 80 साल की होने वाली रीता चोकसी हैं, जबकि सबसे छोटे सदस्य 39 साल के सुमित मुखर्जी हैं। टीम की औसत आयु 51 साल है। यही नहीं भारतीय टीम में पूर्व केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री मुरली देओड़ा की पत्नी 67 साल की हेमा देओड़ा और नामी उद्योगपति शिव नादर की पत्नी 67 साल की किरन नादर भी शामिल हैं।

Loading...
loading...