X
    Categories: झारखण्डराष्ट्रीय

झारखंड से ईसाई बनाने के लिए पंजाब लाए जाते हैं बच्चे

झारखंड से आदिवासी बच्चों को पंजाब ले जाकर धर्म परिवर्तन कर ईसाई बनाने का मामला पकड़ में आया है। राज्य से 34 बच्चों को लुधियाना के एक अवैध शेल्टर होम में रखे जाने की सूचना पर मारे गए छापे में 4 बच्चों को बरामद कर 2 लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया। बाकी बच्चों में से 20 झारखंड के पश्चिमी सिंहभूम जिले में अपने घरों पर लौट आए हैं, लेकिन 10 बच्चे अब भी गायब हैं। गायब बच्चों को पुलिस तलाश रही है।

पश्चिमी सिंहभूम जिले के पुलिस अधीक्षक जी. क्रांति कुमार ने रविवार को बताया कि लुधियाना में 3 कमरों के शेल्टर होम से बरामद किए गए बच्चों के वहां पढ़ाई के लिए रहने की बात कही जा रही है। पकड़े गए लोगों में बिहार के गया जिले का सत्येंद्र प्रसाद मोसेस (56 साल) और पश्चिमी सिंहभूम जिले के गुदड़ी पुलिस थानाक्षेत्र का निवासी जूनुल लांगो शामिल हैं। सत्येंद्र इस शेल्टर होम का मालिक भी है।

उन्होंने बताया कि शेल्टर होम प्रबंधन ने 30 बच्चों को वापस उनके घरों पर भेज देने का दावा किया, जिनमें से पश्चिमी सिंहभूम जिले में फिजिकल सत्यापन के जरिए 20 बच्चों के घर पहुंचने की पुष्टि भी कर ली गई है, लेकिन 10 बच्चे अब भी गायब हैं। उन्होंने बताया कि शनिवार को दोनों आरोपियों को अदालत ने 14 दिन के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया है।

Loading...

रांची की स्पेशल ब्रांच की रिपोर्ट पर कार्रवाई
रांची पुलिस की स्पेशल ब्रांच ने 34 बच्चों को लुधियाना के शेल्टर होम में ईसाई बनाने के लिए रखे जाने की रिपोर्ट दी थी। इसके बाद एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट पुलिस स्टेशन के इंचार्ज बनारसी राम को इन बच्चों को लाने के लिए पंजाब भेजा गया था।

loading...

26 अगस्त को दर्ज हुई थी एफआईआर
चाईबासा की चाइल्ड वेलफेयर कमेटी की सदस्य ज्योत्सना टिर्की ने 26 अगस्त को एक मीडिया रिपोर्ट के आधार पर एफआईआर दर्ज कराई थी, जिसमें लुधियाना के शेल्टर होम में बच्चों का धर्म परिवर्तन कर उन्हें ईसाई बनाने और बाल मजदूरी में शामिल कराने का आरोप लगाया गया था। ज्योत्सना ने अपनी शिकायत में जूनुल लांगो पर बच्चों के अभिभावकों को उन्हें शिक्षा और दिलाने का झूठा वादा कर लुभाने का भी आरोप एफआईआर में लगाया था।

लुधियाना पुलिस भी कर रही है जांच
झारखंड पुलिस के लुधियाना में छापा मारकर बच्चों को बरामद करने के बाद स्थानीय पुलिस भी सक्रिय हो गई है और जांच शुरू कर दी है। शहर के थाना सदर के एएसआई परमजीत सिंह ने बताया कि धर्म परिवर्तन की शिकायत मिलने के बाद झारखंड पुलिस पिछले दिनों लुधियाना आई थी। वह यहां से सत्येंद्र प्रसाद नामक व्यक्ति को ले गई। हम अपने स्तर पर मामले की जांच कर रहे हैं।

Loading...
News Room :

Comments are closed.